लुधियाना और मोहाली से 60 दिन में चुराई 14 कारें, गैंग में शामिल 4 आरोपी काबू, 9 कारें बरामद

12/11/2019 8:58:59 AM

लुधियाना(ऋषि): लुधियाना और मोहाली से 60 दिनों में 14 पुरानी कारें चुराकर पुलिस से बचने के लिए पार्किंगों में खड़े करने वाले गैंग का थाना सराभा नगर की एस.एच.ओ. एस.आई. मधुबाला की पुलिस पार्टी द्वारा पर्दाफाश किया गया है। पुलिस ने गैंग के 4 आरोपियों को दबोचकर उनके पास से चोरीशुदा 9 कारें बरामद की हैं, जबकि 5 कारों के मालिकों ने कुछ दिनों बाद खुद ही अपनी कारें ढूढ निकाली।

इस गैंग द्वारा सितम्बर और नवम्बर महीने में मॉडल टाऊन इलाके से 2 कारें चुराई गई, फुटेज हाथ लगने के बाद पुलिस उन तक पहुंच गई। उपरोक्त जानकारी पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल, डी.सी.पी. डिटैक्टिव सिमरतपाल सिंह ढींडसा, ए.डी.सी.पी. गुरप्रीत सिंह पुरेवाल और ए.सी.पी. समीर वर्मा ने मंगलवार को पत्रकार सम्मेलन दौरान दी। उन्होंने बताया कि पकड़े गए आरोपियों की पहचान हिमांशु (23) निवासी फील्डगंज, उदित शर्मा (20) निवासी खरड़, गुरप्रीत सिंह (25) निवासी कुराली और सौरव अली (20) निवासी मोहाली के रूप में हुई है। पुलिस ने सोमवार को सूचना के आधार पर उक्त आरोपियों को सराभा नगर इलाके से तब दबोचा, जब वे किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। पुलिस के अनुसार आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमांड पर गहनता से पूछताछ की जाएगी।

भाई के दोस्त संग मिलकर बनाया गैंग
ए.सी.पी. समीर वर्मा के अनुसार जांच दौरान सामने आया है कि उदित की अपने एक भाई के माध्यम से कुछ समय पहले ही हिमांशु से दोस्ती हुई जिसके बाद उन्होंने जल्द अमीर बनने के लिए अपना गैंग बना लिया। पुलिस को चोरों के पास से एक एक्टिवा भी बरामद हुई है जिसका प्रयोग दिन के समय रैकी के लिए किया जाता। लुधियाना में रैकी का काम हिमांशु और मोहाली में गुरप्रीत की तरफ से किया जाता।

‘मास्टर की’ से चुराते थे सिर्फ पुरानी कारें, बेचने में नहीं मिली कामयाबी 
ए.डी.सी.पी. गुरप्रीत कौर पुरेवाल के अनुसार चोरों के पास से पुलिस को एक ‘मास्टर की’ बरामद हुई है जिससे केवल पुरानी कारों को ही खोला जा सकता है, इसीलिए गैंग की तरफ से केवल पुरानी कारें ही चुराई जाती थीं और उन्हें पास में ही किसी सुनसान जगह या पुलिस से बचने के लिए पाॢकग में खड़ी कर देते लेकिन गैंग की तरफ से अभी तक एक भी कार का ग्राहक ढंूढने की कामयाबी हाथ न लग सकी। न तो इनकी तरफ से कारों की नंबर प्लेटें चेंज की गईं और न ही जाली दस्तावेज तैयार किए गए। 

चोरों ने माना, नहीं ले जा पाते थे गियर लॉक लगी गाड़ी 
सी.पी. अग्रवाल के अनुसार चोरों ने माना है कि जिस गाड़ी पर गियर लॉक लगा हुआ हो उसे वे चुराकर नहीं ले जा पाते थे, इसीलिए सी.पी. अग्रवाल की तरफ से घरों के बाहर कार खड़ी करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को गेयर लॉक लगवाने की अपील की है,ताकि चोरी की वारदातों को रोका जा सके। 
 


swetha

Related News