जलालाबाद में स्व. बाबा सरदारा राम का परिवार और बस्ती बावरिया की पंचायत कांग्रेस में शामिल

9/20/2020 2:50:30 PM

जलालाबाद (सेतिया, सुमित, टीनूं): शिरोमणि अकाली दल के सुप्रीमो प्रकाश सिंह बादल के अति करीबी और जलालाबाद हलके अंदर शिरोमणि अकाली दल की नींव खड़ी करने में अहम योगदान डालने वाले गांव बंदीवाला से साथ सबंधित स्व. बाबा सरदारा राम का परिवार हरकिशन जोसन और सन्दीप जोसन (दीपा) विधायक रमिन्दर आवला ने नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी में शामिल हुआ। इस अवसर पर उनके साथ पांच और परिवार तथा बस्ती बावरियां के सरपंच गुरबचन सिंह, पंचायत सदस्य बलवीर सिंह, पंचायत सदस्य सतनाम सिंह, पंचायत सदस्य मघ्घर सिंह, पंचायत सदस्य राम दर्शन, पंचायत सदस्य जगतार चंद अकाली दल को अलविदा कह कर कांग्रेस में शामिल हो गए। 

यहां बता दें कि बंदी वाला के साथ संबंधित कांग्रेसी वर्कर संदीप कुमार और राम देव द्वारा स्व.बाबा सरदारा राम के पारिवारिक सदस्यों को शामिल करवाने में अहम योगदान दिया। इस मौके उनके साथ बीसी कमिशन पंजाब के वाइस चेयरमैन सुखविन्दर सिंह काका कंबोज, ब्लाक संमिति वाइस चेयरमैन सुभाष कालूवाला, इकबाल बराड़, छिन्दरपाल सरपंच, रोमा आवला, जोनी आवला,सचिन आवला, राज बख्श कंबोज तथा सुमित आवला मौजूद थे। यहां बताने योग्य है कि जलालाबाद हलके अंदर अकाली दल क नींव को खड़ा करने वाला परिवार और प्रकाश सिंह बादल के अति करीबी दोस्त स्व. बाबा सरदारा राम शुरू से ही अकाली थे। यहां तक कि बंदी वाला के साथ सम्बन्धित हंस राज जोसन मंत्री थे और उनके साथ रिश्तेदारी होने के बावजूद भी उन्होंने अकाली दल का साथ नहीं छोड़ा। 

स्व. बाबा सरदारा राम हलके अंदर अकाली दल के चुने जाने वाले उम्मीदवार को टिकट दिलाने के मामलो में भी अहम रोल अदा करते थे। इसके इलावा जब प्रकाश सिंह बादल हलके अंदर आते थे तो बाबा सरदारा राम के घर अक्सर ही पहुंचते थे और इसी तरह उनका अकाली दल के साथ गहरा रिश्ता रहा। परन्तु जलालाबाद हलके अंदर रमिन्दर आवला द्वारा बतौर विधायक चुने जाने के बाद उनकी नीतियों से प्रभावित हो कर बाबा सरदारा राम के परिवार ने आखिरकार कांग्रेस पार्टी में जाने का फैसला किया और  उक्त परिवार सहित बस्ती बावरिया की पंचायत भी अकाली दल में शामिल हुई। इस मौके विधायक रमिन्दर आवला ने उक्त परिवार के पार्टी में शामिल होने पर स्वागत किया और विश्वास दिलाया कि जिस तरह अकाली दल में परिवार का मान सत्कार था और कांग्रेस पार्टी में इस से भी ज्यादा सम्मान बहाल रहेगा। उन्होंने बताया कि आगामी विधान सभा के मतदान को लेकर काफी समय पड़ा है और परन्तु इस परिवार ने राजनीति से पर उठ कर निस्वार्थ कदम उठाते हुए कांग्रेस पार्टी की नीतियों से प्रभावित हो कर पल्ला पकड़ा है। 

विधायक आवला ने हलका निवासियों को भरोसा दिया कि हलके अंदर बिना किसी भेदभाव के विकास कार्य करवाए जाएंगे और किसी भी व्यक्ति को अपने काम-काम के लिए राजनीतिक दिवेश का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन आम लोगों को संबोधित करते कहा कि कृषि आर्डीनैंस के मुद्दे पर किसान लगातार केंद्र और केंद्र की भागीदार पार्टी अकाली दल का विरोध कर रहे हैं और किसान विरोधी नीतियों के कारण अब बड़ी संख्या में किसान अकाली दल से मुंह मोड़ कर कांग्रेस पार्टी शामिल हो रहे हैं क्योंकि किसान हितैषी फैसले लेने में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने ही हमेशा अपना हौसला दिखाया है।


Mohit

Related News