‘पंथक जनाधार जाता देख बादल पिता-पुत्र झूठे व मनगढ़ंत आरोप लगाने पर उतरे’

3/20/2020 9:28:28 AM

चंडीगढ़(अश्वनी): पंजाब के 3 मंत्रियों ने कहा कि यह बात पूरे सिख जगत को पूरी तरह स्पष्ट है कि बादल पिता-पुत्र ने सत्ता पर काबिज रहने के लिए श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का घोर पाप किया है। उन्होंने कहा कि अब जब पंथक मामलों और राजनीतिक तौर पर अकाली दल के पैरों के नीचे से जमीन पूरी तरह खिसक गई है तो बादल अपने स्वभाव के अनुसार झूठे व बेबुनियाद आरोपों पर उतर आए हैं। 

ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री तृप्त राजिंद्र सिंह बाजवा, सहकारिता मंत्री सुखजिंद्र सिंह रंधावा, शहरी विकास एवं आवास निर्माण मंत्री सुखहिंद्र सिंह सरकारिया ने कहा कि प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर सिंह बादल द्वारा बेअदबियों के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराना उनके बौद्धिक दिवालिएपन का प्रतीक है और यह बयान उलटा चोर कोतवाल को डांटे वाली बात है। उन्होंने कहा कि बौखलाहट में आए बादल पिता-पुत्र झूठ बोलने पर इतने तत्पर हो गए हैं कि वह यह भी भूल गए कि पिछले समय में उन्होंने इन घटनाओं संबंधी क्या बयान दिए, नहीं तो वह अपने विरोध में बयान न देते।

कैबिनेट मंत्रियों ने कहा कि पहली बात तो यह है कि जब राज्य में बेअदबी की घटनाएं हुईं उस समय अकालियों का राज था और दोनों पिता-पुत्र मुख्यमंत्री तथा गृह मंत्री थे। यदि कांग्रेस दोषी थी तो वह अपने 2 साल के कार्यकाल में क्या करते रहे। उन्होंने कहा कि सुखबीर बादल को तो भूलने की बीमारी है। उन्होंने पूर्व उप मुख्यमंत्री को उनके पुराने बयान याद करवाते हुए कहा कि जब बेअदबी हुई थी तो सबसे पहले उन्होंने 2 निर्दोष सिख लड़कों को पकड़ कर कोरी वाहवाही कमाने के लिए इन घटनाओं के पीछे खालिस्तानियों और आई.एस.आई. का हाथ बताया था। फिर जब राज्य में ‘आप’ की लहर थी तो सुखबीर बादल ने इसके पीछे आप का हाथ बताया और आज जब कांग्रेस सरकार के 3 सालों के बाद लोग सरकार से खुश और संतुष्ट लग रहे हैं तो सुखबीर बादल को कांग्रेस जिम्मेदार लगने लग गई।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

swetha

Recommended News

static