एप डाऊनलोड करते समय रहें सावधान!

punjabkesari.in Thursday, Jan 16, 2020 - 03:22 PM (IST)

जालंधर(कमलेश): मोबाइल में ‘एनीडैस्क’ और ‘टीमव्यूवर क्विक सपोर्ट’ एप डाऊनलोड कराकर शातिर ठग लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। पंजाब में भी ऐसी घटनाएं देखने को मिल रही हैं जिसमें लोगों को पेटीएम के के.वाई.सी. की प्रक्रिया पूरी करने के नाम पर उक्त एप्स डाऊनलोड कराए जाते हैं जिसके बाद एप डाऊनलोड करने वाले व्यक्ति के मोबाइल पर एप के जरिए शातिर ठग अपना कंट्रोल बना लेते हैं। इसके बाद यूजर अपने मोबाइल पर जो भी गतिविधि करता है, उसे ठग अपने कम्प्यूटर की स्क्रीन पर देख सकते हैं और इसका फायदा उठाते हुए वे यूजर द्वारा ट्रांजैक्शन के लिए यू.पी.आई. में इस्तेमाल किए जा रहे पासवर्ड को भी देख सकते हैं और मोबाइल यूजर की एप से बड़े आराम से पैसे चुरा सकते हैं।

एप का दुरुपयोग करे रहे ठग
ऑनलाइन लोगों को ठगी का शिकार बना रहे आरोपी एप्स का दुरुपयोग कर रहे हैं। हालांकि एनीडैस्क और टीमव्यूवर क्विक सपोर्ट एप कोई फ्रॉड एप नहीं है। इन एप्स का इस्तेमाल आई.टी. प्रोफैशनल द्वारा किया जाता है जिसके जरिए वे किसी भी जगह बैठकर अपने ऑफिस के कम्प्यूटर को असैस कर सकते हैं और उस पर अपना सारा काम कर सकते हैं लेकिन शातिर ठगों ने इन एप्स का इस्तेमाल ठगी के लिए शुरू कर दिया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

Sunita sarangal

Related News

Recommended News