किसान जत्थेबंदियों के ‘मिशन पंजाब’ को ले कर डरी कांग्रेस सरकार

punjabkesari.in Saturday, Dec 11, 2021 - 01:56 PM (IST)

भोगपुर (राजेश सूरी): केंद्र सरकार की तरफ के पास किए गए तीन कृषि बिलों का विरोध कर रही किसान जत्थेबंदियों के संघर्ष के चलते केंद्र की तरफ से तीनों खेती बिल वापस लिए जा चुके हैं और किसानों की बाकी मांगें भी जल्द माने जाने का भरोसा दिए जाने के बाद आज किसानों की तरफ से घर वापसी शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही पंजाब की किसान जत्थेबंदियों की तरफ से किसानों की कर्ज माफी को लेकर ‘मिशन पंजाब ’ के बैनर के नीचे नया संघर्ष शुरू किए जाने का ऐलान किया गया है। पंजाब की कांग्रेस सरकार के हाथों किसानों आंदोलन का मुद्दा जा चुका है इस मुद्दे को लेकर अक्सर कांग्रेस पार्टी अकाली दल और भाजपा को टारगेट करती रही है। 

यह भी पढ़ें : कैप्टन की पार्टी में होगी कांग्रेस के बागियों की फौज!

पंजाब सरकार की तरफ से बीते दिनों किसान जत्थेबंदियों ने मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी के नेतृत्व में मीटिंग की थी जिसमें 18 मुद्दों पर सहमति बन गई थी पर कर्ज माफी का मुद्दा लटक गया था। इसको लेकर मुख्यमंत्री ने कहा था कि वह इस बारे में रिपोर्ट लेकर फिर दोबारा मीटिंग करेंगे पर उनके द्वारा मीटिंग न किए जाने के बाद अब किसान जत्थेबंदियों की तरफ से ‘मिशन पंजाब ’ शुरू किए जाने का ऐलान किया गया है। इसके बाद पंजाब सरकार की चिंता बढ़ती नजर आ रही है। इसी चिंता के चलते पंजाब सरकार की तरफ से एक पत्र जारी कर पंजाब की 29 किसान जत्थेबंदियां जिनमें भारतीय किसान यूनियन राजेवाल, क्रांतिकारी किसान यूनियन, लोकतांत्रिक किसान सभा, भारतीय किसान यूनियन डकौंदा, कुल हिंद किसान सभा, कामगार किसान यूनियन, पंजाब किसान यूनियन, कुल हिंद किसान सभा, किसान संघर्ष समिति, आज़ाद किसान संघर्ष समिति, जय किसान आंदोलन, किसान संघर्ष समिति, भारतीय किसान यूनियन क्रांतिकारी, भारतीय किसान यूनियन सिद्धूपुर, भारतीय किसान यूनियन कादियाँ, भारतीय किसान यूनियन दोआबा, भारतीय किसान यूनियन मानसा, माझा किसान समिति, इंडियन फारमर एसोसिएशन आफ इंडिया, लोग इन्साफ वैलफेयर सोसायटी, दोआबा किसान समिति, दोआबा किसान संघर्ष समिति, गन्ना संघर्ष समिति, आज़ाद किसान समिति दोआबा, भारतीय किसान यूनियन (पी), किसान बचाओ मोर्चा, भारतीय किसान यूनियन लक्खोवाल, कुल हिंद किसान फैड्डरेशन, दोआबा किसान यूनियन नवांशहर  दे प्रधानों को 17 दसबंर को खेती भगवन में मीटिंग के लिए बुलाया गया है। 

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री चन्नी ने हदबंदी से ज्यादा जमीन रखने वालों के लिए जारी किए आदेश

कैप्टन कर रहे हैं कर्ज माफी का दाअवा
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की तरफ से किया जा रहा कर्ज माफी का दावा कांग्रेस के लिए मुसीबत बनता नजर आ रहा है। कैप्टन की तरफ से अपने साढ़े चार साल के कार्यकाल में पंजाब के 5 लाख 64 किसानों के 4624 करोड़ क्षमा किए जाने का दावा किया जा रहा है और इलावा पंजाब के 2 लाख 85 हजार भूमि रहिेत मजदूरों के 520 करोड़ रुपए के कर्ज माफ किए जाने का भी दावा किया जा रहा है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News