जालंधर में Oxygen सिलैंडर खत्म होने के कारण कोरोना मरीज की मौत, हंगामा!

4/21/2021 1:39:08 PM

जालंधर(मृदुल): लिंक रोड स्थित न्यू रुबी अस्पताल में ऑक्सीजन सिलैंडर की कमी के कारण कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत हो गई, जिसके बाद मरीज के परिजनों द्वारा अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। परिजनों ने आरोप लगाया कि अचानक खत्म हुए ऑक्सीज़न सिलैंडर के कारण पूरे आई.सी.यू. में भर्ती मरीजों में दहशत फैल गई। इसके बाद अस्पताल प्रशासन द्वारा अन्य अस्पतालों से ऑक्सीज़न सिलैंडर मंगवाए तब जाकर मरीजों ने राहत की सांस ली। वहीं एस.एच.ओ. सुरजीत सिंह का कहना है कि लिखित शिकायत आने के बाद बनती कार्रवाई की जाएगी।

सिकंदरपुर के रहने वाले पीड़ित जतिंदर सिंह ने बताया कि वह खेतीबाड़ी करता है और उनके पिता पूर्व बलवीर सिंह को बीतों दिनों से सांस लेेने में तकलीफ व खांसी हो रही थी। इसी कारण उन्हें न्यू रुबी अस्पताल में दाखिल कराया था और 16 अप्रैल को जब वह अस्पताल में डॉक्टर को दिखाने लाए तो डॉक्टर ने उनकी हालत सीरियस होने के चलते भर्ती कराने की सलाह दी। वहीं डॉक्टर की बात मानकर उनका कोरोना टैस्ट करवाया तो उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई जिसके चलते उन्हें अस्पताल में ही दाखिल करवा दिया। बेटे जतिंदर के मुताबिक आज शाम 7 बजे तक वह बिल्कुल ठीक थे। उन्होंने फोन पर परिजनों से बातचीत भी की। मगर उसके बाद अचानक जब देखा कि अस्पताल के आई.सी.यू. में अफरा-तफरी मच गई है और अंदर जाकर देखा तो डॉक्टर छाती को पंप कर रहे थे। एक मरीज के परिजनों ने बताया कि अस्पताल में ऑक्सीज़न सिलैंडर खत्म हो गए हैं, जिसके कारण कई मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इतने में करीब साढ़े 8 बजे डॉक्टरों द्वारा पिता को मृत घोषित करने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने कहा कि मरीज पहले से ही स्थिति खराब थी, जिसके कारण उनकी मौत हुई है। परिजनों का आरोप है कि अस्पताल की लाहपरवाही के कारण उनके पिता की मौत हुई।

डा. एस.पी.एस ग्रोवर ने नहीं उठाया फोन
वहीं जब इस संबंध में डा. एस.पी.एस. ग्रोवर को फोन किया तो उन्होंने फोन उठाना मुनासिब नहीं समझा। जबकि पुलिस के मुताबिक हंगामे के बाद डॉ. एस.पी.एस. ग्रोवर द्वारा पुलिस को फोन करके हंगामे की सूचना दी गई थी।


Content Writer

Vatika

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static