मजीठिया के आरोपों के बाद गृह मंत्री रंधावा का जवाब

punjabkesari.in Wednesday, Jan 26, 2022 - 03:30 PM (IST)

चंडीगढ़: पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने कहा कि नशों के मामले में एफ.आई.आर. दर्ज होने के बाद राज्य पुलिस शिरोमणि अकाली दल के विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया को मामले की जांच के लिए गिरफ्तार करेगी। रंधावा, जो गृह विभाग के प्रमुख भी हैं, ने कहा कि वह न तो बदलाखोरी की राजनीति में विश्वास रखते हैं और न ही कानून से बाहर जाएंगे। पुलिस कानूनी प्रक्रिया अनुसार मामले की जांच करेगी।

रंधावा ने कहा, "शिरोमणि अकाली दल जैसी पंथक पार्टी का नशा, शराब और माफिया में शामिल होना बड़ी नमोशी वाली बात है।" उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल 2007 तक शिरोमणि अकाली दल की कमान संभाल रहे थे और उस समय तक अकाली दल पर माफिया, नशा या शराब बारे कोई दोष नहीं था। जब 2007 के बाद शिरोमणि अकाली दल की सत्ता इन व्यक्तियों के पास आई तो इन्होंने बादल का नाम खराब कर दिया। आज भी मैं बादल का बहुत सत्कार करता हूं।

रंधावा ने कहा कि पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने नशा विरोधी एस.टी.एफ. की रिपोर्ट के आधार पर राज्य सरकार को ड्रग्ज केस में कार्यवाही करने से कभी नहीं रोका और पुलिस हाई कोर्ट की आज्ञा से एक इंच भी आगे नहीं बढ़ेगी।

उधर बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि लुधियाना के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस पर रेप के गंभीर केस में गैर जमानती वारंट जारी हो चुका है, इसके बावजूद उसे गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया। मजीठिया ने गृह मंत्री सुखजिन्दर रंधवा के पिता संतोख सिंह रंधवा पर आरोप लगाया कि उनकी पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आई.एस.आई. के साथ सांझ थी। सुखजिन्दर रंधावा के पिता को पार्टी की अध्यक्षीय से इस्तीफा देना पड़ा था।

उपमुख्यमंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधवा ने अपने टि्वटर अकाउंट पर लिखा, ''पंजाब जानता है कि राज्य में नशे की समस्या के लिए कौन जिम्मेदार है और पूरा देश जानता है कि आई.एस.आई. पंजाब में नशा भेजती है। उनके परिवार को किसी नशा, स्मगलर के राष्ट्रवाद पर सर्टीफिकेट की जरूरत नहीं है। इस राज्य के लोगों ने कांग्रेस सरकार को चुना है और उनके और उनके परिवार में अपना विश्वास दिखाया है।''

शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News