अगर आप भी रखते हैं ऑन लाइन शापिंग का क्रेज, तो इन चीजों से रहें सावधान

punjabkesari.in Sunday, Oct 02, 2022 - 10:36 PM (IST)

लुधियाना (गौतम) : फेस्टीव सीजन के चलते लोगों में ऑन लाइन शापिंग का क्रेज बढ़ने लगता है, साइबर ठग भी इसी तरह के मौकों की तलाश में रहते हैं। क्रेज बढ़ने का कारण है कि अधिकतर लोग ऑन लाइन शापिंग में अधिक वैरायटी मिलने की संभावना रखते हैं, दूसरे लोग रश में न जाकर भीड़ में जाने से समय की बचत करना मानता हैं। लेकिन इस क्रेज का साइबर ठग अधिक से अधिक लाभ उठा कर लोगों का अपना शिकार बना रहे हैं। इस क्रेज के चलते लोगों को ऑन लाइन ट्राजैंक्शन भी आसान लगता है। लेकिन बढ़ रहे इस क्रेज के चलते लोगों को साइबर ठगों से बचाव कर ही इसका प्रयोग सतर्कता से  करना चाहिए। 

एक सर्वे के अनुसार ऑन लाइन शापिंग वीकेंड व छुट्टी के दिनों में अधिक होती है, क्योंकि शापिंग के साथ-साथ लोग शनिवार व एतवार को ऑन लाइन खाने-पीने का भी अधिक आर्डर करते हैं। लोगों का लालच रहता है कि आनलाइन अधिक वैरायटी मिलती है और रेट भी वाजिब होते हैं। दूसरा समय की बचत के साथ कंपनियों की तरफ से अलग-अलग आफॅर भी मिलते हैं। इसी बात का फायदा साइबर ठग उठाते हैं, जिन्होंने अनेक तरह के फिंशिग यानी फर्जी लिंक पहले ही तैयार किए हुए और सर्च इंजनों पर इसी तरह की जालसाजी कर लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं। दूसरी तरफ जब भी लोगों को ऑन लाइन ट्राजेक्शन या शापिंग के दौरान कोई दिक्कत आती है तो वह ऑन लाइन ही उससे संबधित कस्टमर केयर का नंबर तलाश करते हैं। 

साइबर विशेषज्ञों का मानना है कि किसी भी तरह की मुश्किल आने पर लोगों को कंपनी की ही वेबसाइट पर जाकर जानकारी लेनी चाहिए। विशेषज्ञों का मानना है कि इस प्रकार की ठगी होती है तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस के साइबर सैल को देनी चाहिए क्योंकि कुछ मिनट में विभाग की तरफ से इस संबंध में कार्रवाई की जा सकती है और जिससे ठग उनके खाते से पैसे को ट्रांसफर नहीं कर सकते।  

लोगों को चाहिए कि गूगल या किसी दूसरी वेबसाइट का प्रयोग करें। हरेक जगह पर जाकर वाईफाई का प्रयोग करने से बचे, साथ ही अपना स्ट्रांग पासवर्ड लगाने के साथ-साथ समय पर इसको बदलते रहे। किसी भी दूसरे के साथ ओ.टी.पी. या बैंक खातों की जानकारी सांझी न करें। किसी के कहने पर भी कोई एप्लीकेशन या ऐप डाऊन लोड न करें। ठगी होने पर इसकी सूचना तुरंत पुलिस को हेल्प लाइन नंबर 1930 पर दें। शीघ्र अधिक रिर्टन, धन कमाने वाले सदिंग्ध ऐप्स इंस्टॉल करने से बचें । अलग अलग डिवाइस और अकाऊंट के लिए एक ही पासवर्ड का प्रयोग न करें। जरूरत पड़ने पर ही लोकेशन सर्विस ऑन करें। अपने बैंक खातों पर लगातार नजर रखें। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Subhash Kapoor

Related News

Recommended News