रामा मंडी में न्यू कृष्णा स्वीट्स शॉप और श्री कृष्णा स्वीट शॉप ने सरैंडर किए 1.27 करोड़ रुपए

2/22/2020 9:09:00 AM

जालंधर (विनीत/मृदुल): आयकर विभाग की ओर से प्रिंसीपल कमिश्नर-1 डा. सिम्मी गुप्ता के निर्देशानुसार रेंज-2 के ज्वाइंट कमिश्नर अनिल धीर के नेतृत्व में रामा मंडी स्थित न्यू कृष्णा स्वीट्स व श्री कृष्णा स्वीट शॉप और होशियारपुर की स्टील फर्म में वीरवार को शुरू हुए आयकर सर्वे के दूसरे दिन विभाग को उस समय बड़ी सफलता मिली, जब दोनों फर्मों ने आयकर विभाग को 2.32 करोड़ की अघोषित आय सरैंडर की। 

जानकारी के अनुसार आयकर विभाग के पास यह सूचना पहले से ही थी कि उक्त फर्मों के मालिक अपनी वास्तविक आय के अनुरूप विभाग को टैक्स जमा नहीं करवा रहे थे बल्कि विभिन्न प्रापर्टीज में निवेश करके टैक्स बचा रहे थे। उन्होंने बताया कि न्यू कृष्णा स्वीट्स शॉप और श्री कृष्णा स्वीट शॉप ने 1.27 करोड़ जबकि होशियारपुर की स्टील कम्पनी 1.05 करोड़ की राशि सरैंडर की है। 

उल्लेखनीय है कि इन संस्थानों में शुरू हुआ विभागीय सर्वे देर रात तक चलता रहा, जिसके तहत उपायुक्त एम.एस. परमार, सहायक आयुक्त सी.एम. मीणा, तरसेम लाल, परविन्द्र सिंह, सुनील ऐरी, विशु देव, कमल किशोर, आयकर अधिकारी प्रतिभा व अन्य आयकर निरीक्षकों ने धारा 133-ए के तहत जांच की थी, जिसमें उन्हें काफी अनियममितताएं देखने को मिली। अब उक्त फर्मों को अघोषित आय पर बनता टैक्स अदा करना होगा। 

लग्जरी कारें और प्रापर्टी में लगा रखा था पैसा 
आयकर विभाग की प्रिंसीपल कमिश्नर (रेंज-1) डा. सिम्मी गुप्ता ने बताया कि आयकर विभाग की हर उस व्यक्ति पर पूरी नजर रहती है, जो अपनी असल आय के हिसाब से अपना बनता टैक्स विभाग को जमा नहीं करवाता, इसी कारण उसकी असल इन्कम उसके लाइफ स्टाइल से मेल नहीं खाती और ऐसे में उसका प्रापर्टी व ज्वैलरी में निवेश करना, लग्जरी कारें, महंगे मोटरसाइकिल, महंगी घडिय़ां व लग्जरी शादी समारोह व पाॢटयां संदेह के घेरे में रहते हैं। 

ट्रैवल एजैंटों पर भी विभाग कसेगा शिकंजा 
सूत्रों की मानें तो 31 मार्च आने से पहले विभाग द्वारा यह पहली रेड थी, जिसमें इतनी बड़ी राशि सरैंडर हुई है। इस कार्रवाई के बाद शहर के अन्य कई कारोबारी व ट्रैवल एजैंट पर भी विभाग की पैनी नजर है और जल्द ही शिकंजा कस सकता है, क्योंकि इससे पहले इंफोर्समैंट डायरैक्टोरेट (ई.डी.) द्वारा भी कई ट्रैवल एजैंटों के ठिकाने पर रेड की गई थी, जिससे विभाग के शक है कि कई ट्रैवल कारोबारी भी अपनी इंकम कम दिखाकर पैसा प्रॉपर्टी में इन्वैस्ट कर रहे हैं। 

समय पर भरें अपनी रिटर्न, एडवांस टैक्स की लास्ट डेट 15 मार्च
डा. गुप्ता ने बताया कि विभाग की ऐसी सर्वे कार्रवाई से बचने के लिए सभी करदाताओं को अपना बनता टैक्स अति शीघ्र विभाग को जमा करवाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अभी तक जिन्होंने इस निर्धारण वर्ष की इन्कम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं की है, वह जल्द ही अपनी रिटर्न फाइल करें। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 का एडवांस टैक्स जमा करने की अंतिम तिथि 15 मार्च, 2020 है। 


swetha

Related News