केंद्र खिलाफ मोर्चे पर डटे किसानों को पंजाब से भेजी जा रही देसी घी की 'पिन्नियों' की खुराक

12/4/2020 4:41:44 PM

जालंधरः कृषि बिलों के विरोध में दिल्ली में किसानों का धरना लगातार जारी है। दिल्ली में धरना देने का आज किसानों का 9वां दिन है। एक तरफ जहां दिल्ली में किसानों ने मोर्चा लगाया हुआ है, वहीं पंजाब की महिलाओं ने भी मोर्चे को संभाला हुआ है। दोआबे के गांवों में से महिलाओं की तरफ से दिल्ली मोर्चो में डटे किसानों के बुलंद हौंसले को देखते हुए देसी घी की पिन्नियां तैयार करके भेजी जा रही हैं। दिल्ली मोर्चो के लिए भेजने के लिए दोआबे के गांवों में से 20 क्विंटल के करीब पिन्नियां तैयार की जा रही हैं। इन पिन्नियों में देसी घी, सूखे मेवे और किसानों के घर का निकाला गुड़ इस्तेमाल किया जा रहा है।

PunjabKesari

प्रवासी पंजाबियों ने भी की मदद
पिन्नियां बनाने के लिए विशेष तौर पर हलवाई बुलाए गए थे और साथ ही महिलाओं ने भी दिल से सेवा की है। गांव तलवंडी माधो से नौजवान किसान अमरीक सिंह संधू ने कहा कि प्रवासी पंजाबियों और गांव के लोगों की मदद से 2 लाख से अधिक रकम इकट्ठी हुई है और पिन्नियां बनाने के लिए सामान लाया गया है।

बता दें कि दोआबे के नामवर गांव जगतपुर जट्टां में 15 क्विंटल, गांव नौली में 5 क्विंटल, तलवंडी माधो में 3क्विंटल और गांव सोहल खालसा में 2 क्विंटल के करीब पिन्नियां बन कर तैयार हो गई हैं। गांव नौली के गुरुद्वारा साहिब की संगत की तरफ से 5 क्विंटल के करीब अलसी की पिन्नियां बनाईं गई हैं। दो गाड़ियों में यह सिंघू बार्डर पर पहुंचाई जाएंगी। गुरुद्वारे में बैठीं महिलाएं शब्दों का जाप करते हुए यह पिन्नियां बनाने की सेवा निभा रही हैं। पूर्व सरपंच परमजीत सिंह का कहना है गांव के 20 आदमी 5 क्विंटल पिन्नियां लेकर रवाना होंगे, जोकि वहां किसानों को बांटें जाएंगी।


Vatika

Recommended News