Bank में रखते हैं पैसे तो जरा संभल कर, कहीं इस महिला की तरह आपके ना छूट जाएं पसीने...

punjabkesari.in Friday, Aug 19, 2022 - 01:23 PM (IST)

जालंधर (सुनील): आजकल लोग समय बचाने के चक्कर में हर काम ऑनलाइन करना पसंद करते हैं, ताकि घर बैठे ही सारे कार्य पूरे हो जाएं। इस बात का फायदा आजकल एक गिरोह खूब उठा रहा है। लालच में आकर खाता खुलवाने वाले को पता भी नहीं चलते कि उसके खाते से कब लाखों रुपए की ट्रांजैक्शन हो जाती है और यह पता तब चलता है पुलिस पकडऩे आती है। अंदेशा जताया जा रहा है कि झांसा देकर बैंक खाता खोलने वाले गिरोह द्वारा खातों में लाखों रुपए की की जा रही ट्रांजैक्शन का इस्तेमाल ड्रगमनी और हवाला के लिए किया जा सकता है। जानकारी के अनुसार अशोक बिहार में रहती कुछ महिलाओं को 2000 रुपए का लालच देकर बैंक अकाऊंट खोले गए और शर्त रखी गई कि बैंक अकाऊंट की कॉपी तथा ए.टी.एम. 15 दिन के बाद आपके घर आ जाएगा।     

झांसे की शिकार महिला ने किया खुलासा    
बैंक अकाऊंट खुलवाने वाली एक महिला ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि उसने एक मुस्लिम महिला पर भरोसा करके एक व्यक्ति को अपने सारे डाक्यूमैंट दे दिए, ताकि उनके नाम का बैंक अकाऊंट खुल सके। बाद में उसे पता चला कि उसके बैंक खाते में करीब 8.70 लाख रुपए की एंट्री आई है तो वह खुद बैंक गई और वहां मौजूद कर्मी से मिली तथा उसे बताया कि उसके बैंक खाते में करीब 8.70 लाख रुपए आए हैं। इस अकाऊंट को सीज कर दिया जाए तथा पता लगाया जाए कि इस बैंक अकाऊंट में पैसे किसने डाले हैं तथा इन्हें कौन निकालेगा। बैंक कर्मी को बताए जाने के बावजूद बैंक खाते को सीज नहीं किया और किसी ने उक्त राशि उसके बैंक खाते से निकलवा भी ली। बताया जाता है कि उक्त गिरोह का शिकार केवल महिलाए ही नहीं हुई, बल्कि कुछ युवकों ने इसी तरह अकाऊंट खुलवाए हैं।

रोपड़ के एक थाने में केस दर्ज    
सूत्रों का कहना है कि इस गैंग के खिलाफ कुछ दिन पहले रोपड़ के एक थाने में मामला दर्ज हुआ है। बैंक अकाऊंट गलत हाथों में चले जाने से लोगों के हाथ-पांव फूल गए तथा वह इस गैंग से डरे हुए हैं।

कई लोगों के अकाऊंट में हो चुकी लाखों की ट्रांजैक्शन
सूत्रों के अनुसार इस गिरोह ने लाखों रुपए लोगों के नए अकाऊंट में डाले तथा बाद में उनके द्वारा रखे गए एक व्यक्ति ने उक्त रुपए निकलवाए। हैरानी की बात तो यह है कि यह रुपए किसके हैं तथा लोगों के अकाऊंट्स में क्यों डाले गए। यह एक पहेली बनी हुई है। 

मोबाइल सिम भी खरीदे लोगों से लिए दस्तावेजों से
यह भी चर्चा है कि बैंक अकाऊंट खुलवाने के लिए वालों ने लोगों से दस्तावेज लेकर गए लोगों ने मोबाइल सिम भी खरीदे हैं जोकि किसी बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं।

महिलाओं को झांसा देने वाली महिला भूमिगत
खाता खुलवाने वाली महिला कई दिनों से गायब है। एन.डी.पी.सी. के मामले दर्ज अशोक बिहार के लोगों में यह चर्चा है कि यह राशि ड्रगमनी हो सकती है क्योंकि 2000 रुपए देकर अकाऊंट खुलवाने वाली एक महिला है जिस पर पहले ही एन.डी.पी.सी. एक्ट के तहत कई मामले दर्ज हैं। दबी आवाज में अकाऊंट खुलवाने वाली महिलाओं का कहना है कि जिस महिला ने हमारा अकाऊंट खुलवाया है वह उनकी खासी परिचित है तथा कई दिनों से वह भूमिगत है। 

गिरोह के खिलाफ महिलाओं ने दी पुलिस को शिकायत
पैसे देकर जिन महिलाओं के अकाऊंट खोले गए उन महिलाओं ने इस गैंग के खिलाफ पुलिस कमिश्नर को शिकायत दी है कि उन्हें इस गैंग से बचाया जाए तथा उनके बैंक खाते में जो राशि आई है वह किस ने डालाीतथा क्यों डाली, इस बात की पूरी तरह से जांच की जाए तथा उनके खिलाफ बनती कानूनी कार्रवाई की जाए। 

बैंक कर्मियों पर उठाया सवाल
पीड़ित महिलाओं ने बैंक के कर्मियों पर भी सवाल उठाया है कि उनके बैंक अकाऊंट नंबर इस गैंग के पास कैसे पहुंचे। जब बैंक कर्मी को खाता सीज करने के लिए कहा गया तो उसने खाता सीज क्यों नहीं किया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News