550वां प्रकाश पर्व: कौमी संदेश में बोले ज्ञानी हरप्रीत सिंह "पंजाबी भाईचारा पंजाबियत का पहरेदार बने"

11/12/2019 2:22:12 PM

सुल्तानपुर लोधी: श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने सिख कौम के नाम संदेश दिया है। उन्होंने कहा कि आज कौम को सोचना चाहिए कि हम कहां ठहरे हैं? उन्होंने कहा कि आज बाबे नानक की शिक्षाओं से सीख लेने की जरूरत है। आज कुदरत का बिगड़ता संतुलन इंसानी स्वभाव का बदलता स्वरूप भी चिंता का विषय है। आज के समय की जरूरत को समझते हुए गुरू साहिब की शिक्षाएं बहुत अहम है। उन्होंने कहा कि किरत सभ्याचार से मुंह मोड़ रहे पंजाबियों को आज बाबे नानक के संदेश ग्रहण करने की जरूरत है। बाबे नानक की वाणी में खाली बैठे इन्सान के लिए कोई जगह नहीं है। आज हमारे समाज में जाति-पाति का बोलबाला क्यों बढ़ रहा है? स्त्री जाति को हमने कितना सम्मान दिया है?

जत्थेदार ने कहा कि अब समय आ गया है कि पंजाबी भाईचारा आलस्य को त्याग कर पंजाबियत का पहरेदार बने। हमारी तकदीर के फैसले किसी दूसरे के पास कैसे चले गए? संसार स्तर पर चल रही बहस में सिख विद्वान शामिल हों और गुरु नानक का तत्व-ज्ञान दें। उन्होंने सारी सिख कौम को इस महान दिवस की बधाइयां देते हुए कहा कि सभी के सुझावों की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार तुरंत बंदी सिंह को रिहा करे। उन्होंने पंजाब सरकार का भी धन्यवाद करते हुए कहा कि कॉरिडोर खुलने से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनी है। 


Edited By

Sunita sarangal

Related News