2017 से अब तक 200 से अधिक आधुनिक हथियार बरामद, 29 मॉड्यूल्स का पर्दाफाश

10/9/2019 7:32:04 PM

चंडीगढ़: पंजाब में अब ड्रग्स के बाद सिर उठाता हुआ आतंकवाद एक बड़ी चुनौती है। 2017 से लेकर अब तक पंजाब पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों ने हथियारों की भारी खेप बरामद की है। आंकड़ों के मुताबिक सीमा पार से लाए गए करीब 200 आधुनिक हथियारों को पुलिस ने कब्जे में लिया है। इसके इलावा 29 आतंकी मॉड्यूल्स का पर्दाफाश किया है। 

PunjabKesari

एक सीनियर पुलिस अधिकारी मुताबिक हथियारों की तस्करी में तेजी चिंता का विषय है। इससे पहले सीमा पार से हथियारों की तस्करी की कुछ घटनाएं घटी थी। पंजाब में हथियारों की तस्करी और पाकिस्तान आधारित ग्रुपों की तरफ से पंजाब के अंदरूनी हिस्सों में हथियार फेंकने के लिए ड्रोनों के प्रयोग ने केंद्र का ध्यान भी खींचा है। 10 किलो तक भार लेजाने की सामर्था रखने वाले ड्रोनों ने सितम्बर की शुरुआत में पांच बार पंजाब में दाखिल होने की कोशिश की और हथियार फेंके। पंजाब पुलिस के रिकार्ड अनुसार 2017 से अब तक 151 पिस्तौलें और रिवाल्वरों के इलावा 50 ए.के-47 और ए.के-56 राइफलें, सब-मशीनगन और कुछ अन्य बंदूकें बरामद हुई हैं। इसके इलावा 320 किलो आर.डी.एक्स भी बरामद हुआ है। यह हथियार 29 दहशत फैलाने के लिए इस्तेमाल किए जाने थे। इन हथियारों समेत 147 आतंवादियों को भी काबू किया गया जिनमें अधिकतर नौजवान हैं। इसको सुरक्षा एजेंसियों की मुस्तैदी ही कहा जा सकता है कि कोई भी बड़ी घटना नहीं घटी।

PunjabKesari

दूसरा विषय कश्मीरी आतंकवादियों के साथ-साथ खालिस्तान समर्थकी लहर के पंजाब आधारित सरहदी लोग या स्लीपर सैल हैं। पुलिस ने चाहे सांझी कार्यवाही की है परन्तु उन्होंने इस बात का खुलासा नहीं किया कि पंजाब में किस रास्ते से तस्करी होती है। कठुआ और जम्मू में तीन आतंवादियों से कई ए.के-47 राइफलें मिलने के बाद इशारा किया गया था कि उनको पंजाब में से ही यह हथियार मिले थे। इसका खुलासा होने के एक महीने बाद भी पंजाब और जम्मू पुलिस इन हथियारों बारे कोई सबूत हासिल नहीं कर सकी। डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने कहा कि एजेंसियां और विदेश में रहते राष्ट्र विरोधी लोग समस्या पैदा करना चाहते हैं परन्तु सुरक्षा एजेंसियों की चौकसी ने उनकी कोशिशें असफल कर दी हैं। 


Vaneet

Related News