पुणे के बाद अब पंजाब में खुलेगा नैशनल वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट, केंद्र ने दी मंजूरी

8/11/2020 1:55:20 PM

चंडीगढ़/जालंधर(अश्वनी, धवन): पुणे के बाद अब पंजाब में नैशनल इंस्टीच्यूट ऑफ वायरोलॉजी सैंटर खुलेगा। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने इंस्टीच्यूट खोलने का आग्रह किया था जिसे केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संस्था वायरोलॉजी के क्षेत्र में खोज के काम को और तीव्रता से आगे ले जाने में सहायक होगी और वायरस का जल्द पता लगाने के लिए भी समर्थ बनाएगी। कैप्टन ने कहा कि केंद्र हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़ और जम्मू-कश्मीर समेत पूरे उत्तरी क्षेत्र की जरूरतों का निपटारा करने में सहायक सिद्ध होगा। 

मुख्यमंत्री कार्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्य सचिव ने संस्था को केंद्र की सैद्धांतिक मंजूरी का पत्र स्वास्थ्य अनुसंधान मंत्रालय के सचिव-कम-भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद् के डायरैक्टर जनरल प्रोफैसर डॉ. बलराम भार्गव से हासिल किया। उन्होंने राज्य सरकार को अनुसंधान के लिए 25 एकड़ जमीन देने के लिए कहा है ताकि आई.सी.एम.आर. इस प्रतिष्ठित केंद्र की स्थापना कर सके। पंजाब बर्ड फ्लू जैसी बीमारी की पहचान करने में पहले से ही सक्षम है। जालंधर में नॉर्दर्न रीजनल डिजीज डायग्नोस्टिक लैबोरेटरी के जरिए पशु-पक्षियों की बीमारी या संक्रमण के खतरे का समय रहते पता लगाया जाता है। यह क्षेत्रीय लैब हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, चंडीगढ़ और जम्मू-कश्मीर समेत पूरे उत्तरी क्षेत्र की जरूरतों का भी निपटारा करती है। 


Vaneet

Related News