न गुरु की बेअदबी करने वाले बचेंगेे और न दोषियों को बचाने वाले : नवजोत सिद्धू

punjabkesari.in Monday, Apr 19, 2021 - 11:00 AM (IST)

पटियाला(राजेश पंजौला): बहबलकलां और बरगाड़ी कांड के मामले पर हाईकोर्ट की तरफ से जांच रिपोर्ट रद्द करने के बाद भड़की पंजाब की राजनीति पर अपनी ही सरकार से खफा चल रहे पूर्व मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू लगातार बादल परिवार और कैप्टन सरकार पर ताबड़तोड़ हमले कर रहे हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जब गुरु की बेअदबी करने वालों के जुर्म का पता लग गया है, किसने जुर्म किया है, उसका पता है, जांच रिपोर्ट सामने है, जांच रिपोर्ट में सबूत हैं तो फिर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही? उन्होंने कहा कि जिन्होंने सृष्टि के रचनहार गुरु की बेअदबी की है, वे भी नहीं बचेंगे और जो इस पाप पर पर्दा डाल कर दोषियों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं, वे भी नहीं बचेंगे। पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जस्टिस रणजीत सिंह की रिपोर्ट में स्पष्ट है कि उस समय के डी.जी.पी. की रात को 2.30 बजे उस समय के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के साथ बात हुई, जिसके बाद ही गोली चलाने के आदेश हुए और 2 सिख शहीद हो गए।उन्होंने कहा कि जांच एजैंसी पंजाब की है, क्राइम पर कार्रवाई करना स्टेट का सब्जैक्ट है, फिर हमारी अपनी ही सरकार दोषियों पर कार्रवाई क्यों नहीं कर रही? जस्टिस रणजीत सिंह की रिपोर्ट में स्पष्ट है कि पहली नजर में अपराध बहुत खतरनाक है। ऐसे अपराधों में 7 साल की सजा होती है। इसके बावजूद जो एफ.आई.आर. दर्ज की गई, वह अज्ञात के खिलाफ क्यों की गई? जब पता है कि गोली किसने चलाई और गोली चलाने के ऑर्डर किसने दिए। पंजाब विधानसभा में इस पर बहस भी हुई।

उन्होंने खुद बहस में सभी सबूत सामने रखे, जिसके बाद दोषी विधानसभा छोड़ कर भाग गए। और क्या सबूत चाहिएं? पंजाब का बच्चा-बच्चा, हर विधानकार और हर पंजाबी को पता है कि दोषी कौन हैं, फिर भी इनको बचाया जा रहा है। इसका खामियाजा उन लोगों को भी भुगतना पड़ेगा जिनको 2017 में इस मुद्दे पर पंजाब की सत्ता सौंपी गई थी कि सरकार बनने पर गुरु के दोषियों और नशों के सौदागरों को जेलों में भेजेंगे। जिन लोगों ने बेअदबी की थी, उनको पंजाब के लोग सबक सिखा रहे हैं और उनका घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। यदि मौजूदा सिस्टम ने दोषियों पर कार्रवाई न की तो उनका भी यही हाल होगा। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News