सिविल अस्पताल में नवजात बच्चे की मौत, परिवार ने महिला डॉक्टर पर लगाऐ गंभीर आरोप

12/1/2020 4:42:51 PM

गुरदासपुर (गुरप्रीत): जिले के सरकारी अस्पताल में डिलीवरी दौरान नवजात बच्चे की मौत हो जाने का मामला सामने आया है। इस दौरान गुस्से में आए पारिवारिक सदस्यों की तरफ से अस्पताल में महिला डाक्टरों पर लापरवाही के आरोप लगाते हुए जमकर प्रदर्शन किया गया। इस मौके पीड़ित परिवार का कहना है कि उनके बच्चे की मौत महिला डाक्टर की लापरवाही के कारण हुई है। उन्होंने उक्त डॉक्टर खिलाफ से सख्त कार्यवाही की मांग की है।

महिला डॉक्टर की लापरवाही के कारण हुई बच्चे की मौत 
इस संबंधी जानकारी देते मृतक बच्चे के पिता ने बताया कि उसकी पत्नी गर्भवती थी, जिसको 28 नवंबर को गुरदासपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। उस दौरान बच्चा बिल्कुल ठीक था परन्तु बीती रात डाक्टरों ने आकर कहा कि उनके बच्चो की धड़कन नहीं मिल रही और जब डिलीवरी हुई तो बच्चा मरा हुआ पैदा हुआ है। 

डॉक्टरों ने कहा कि उसका बच्चा 10 दिन पहले ही मर चुका था जबकि पहले उन्होंने कहा था कि बच्चा बिल्कुल ठीक था। महिला डॉक्टर की लापरवाही के कारण बच्चे की मौत हुई है। परिवार ने आरोप लगाया कि बच्चे के शरीर पर नाखून के निशान भी पड़े हुए थे। उन्होंने महिला डॉक्टर खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की है। 

मामले की होगी जांच - एसएमओ 
दूसरी तरफ जब इस संबंधी एसएमओ डा. चेतना के साथ बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि वह छुट्टी पर थी और जानकारी मिली है। उन्होंने कहा कि महिला डाक्टर ने उक्त महिला की डिलीवरी की थी। पहले बच्चा बिल्कुल ठीक था परन्तु बाद में मां के पेट में इंफैक्शन होने के कारण की धड़कन रुक गई। इस बारे में परिवार को बता दिया गया था। उन्होंने बताया कि परिवार ने जो लापरवाही के आरोप लगाए थे उसकी जांच की जाएगी और उसके बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी।  


Tania pathak

Recommended News