कोरोना के चलते पंजाब में स्थगित की गई ये परीक्षा, MBBS सहित ये Exam होंगे Online

4/19/2021 6:03:21 PM

चंडीगढ़ः कोरोना के कहर को लेकर पंजाब सरकार द्वारा राज्य में और सख्ती बढ़ा दी गई है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने पटवारियों के लिए भर्ती परीक्षा को स्थगित कर दिया। साथ ही पंजाब के मेडिकल शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग ने एम.बी.बी.एस, बी.डी.एस., और बी.ए.एम.एस. की आखिरी साल की कक्षाओं को छोड़ कर बाकी कक्षाएं अगले आदेश तक आनलाइन लगाने का फैसला लिया है।

यह जानकारी मेडिकल शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री ओम प्रकाश सोनी ने आज यहां दी । उन्होंने बताया कि विभाग की तरफ से यह फैसला कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते लिया गया है । ऐसा विद्यार्थियों की सुरक्षा के मद्देनजर लिया गया है । उन्होंने बताया कि एम.बी.बी.एस, बी.डी.एस. और बी.ए.एम.एस. के आखिरी साल के विद्यार्थियों को छोड़ कर बाकी कक्षाओं के विद्यार्थी अपने घर से ही आनलाइन कक्षाएं लगा सकते हैं। उनको होस्टल में भी रहने की जरूरत नहीं है। सोनी ने बताया कि विभाग की तरफ से नर्सिंग स्कूलों और कालेजों के पहले साल के विद्यार्थियों के लिए भी अगले आदेशों तक आनलाइन कक्षाएं लगाने के निर्देश जारी किये गए हैं। 

आपको बता दें कि इससे पहले पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड के 5वीं,8वीं और 10वीं को बिना एग्जाम दिए प्रमोट किया गया है। अगर बात करें पटवारी की परीक्षा को लेकर तो इस भर्ती के लिए पंजाब के युवां इस कद्र टूट पड़े कि जितनी भर्तियां थी, उससे करीब 200 गुणा ज़्यादा अर्जियां नौजवानों की तरफ से भेजी गई हैं।इस बात पर आप भी हैरान होंगे कि पटवारी की 1152 भर्तियों के लिए 2,33,181 नौजवानों ने अर्ज़ियां भेजी हैं। इसका मतलब है कि हर पद के लिए 200 से अधिक दावेदार हैं। इस नौकरी के लिए योग्यता ग्रेजुएशन रखी गई है, जबकि अप्लाई करने वालों में एमफिल डिग्री होल्डर, पोस्ट ग्रैजुएट और पी.एच. डी. के विद्यार्थी शामिल हैं। इस नौकरी के लिए 18 महीने की ट्रैनिंग का समय रखा गया है। ट्रैनिंग पूरी करने के बाद पटवारी को पहले तीन सालों के दौरान करीब 20,000 रुपए तनख़्वाह मिलती है


Content Writer

Vatika

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static