सिंघु बॉर्डर हत्या मामले में नया मोड़, निंहग नेता की भाजपा मंत्रियों के साथ तस्वीरें वायरल

10/19/2021 1:08:31 PM

जालंधर: सिंघु बॉर्डर पर लखबीर सिंह नामक व्यक्ति का बेरहमी के साथ कत्ल करने की ज़िम्मेदारी लेने वाले निहंग सिंहों के नेता बाबा अमन सिंह की भाजपा नेताओं के साथ तस्वीरें वायरल हुई हैं। इसके बाद इस कत्ल मामले ने नया मोड़ ले लिया है। संयुक्त किसान मोर्चा सहित दूसरे राजनीतिक नेताओं द्वारा भी इस पर सवाल उठाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि इस पूरे मामले के बाद साफ हो गया है कि भाजपा मोर्चे को खत्म करने के लिए हर तरह का पैंतरा अपना सकती है। अब इस मामले की गहराई के साथ जांच होनी बेहद जरूरी हो गई है।

PunjabKesari

सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीरों में बाबा अमन सिंह केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ नजर आ रहे हैं। इनमें तस्वीरों में बर्ख़ास्त पुलिस कर्मचारी और पूर्व पुलिस कैंट गुरमीत सिंह पिंकी जिसपर हत्या का भी आरोपी है, वह भी एक बैठक में दिखाई दे रहा है। सूत्रों के मुताबिक बाबा अमन केंद्र सरकार के साथ किसानों के चल रहे टकराव को हल करने के लिए ‘पर्दे के पीछे भूमिका निभाने वालों ’ में शामिल था।

PunjabKesari

सोशल मीडिया पर कुल 3 तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनमें से एक केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर, निहंग बाबा अमन सिंह को ‘सिरोपा’ पहना रहे हैं। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक यह मीटिंग जुलाई के आखिर में हुई थी। एक ओर तस्वीर में बाबा अमन सिंह और पिंकी केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी के साथ बैठ कर लंच करते नजर आ रहे हैं। इस मौके सुनील कुमार सिंह (झारखंड से सांसद मैंबर), राजस्थान से सौरभ सरस्वत (राष्ट्रीय जनरल सचिव, भारत-तिब्बत संघ), सुखमिंदर पाल सिंह ग्रेवाल (राष्ट्रीय किसान नेता भाजपा और पूर्व राष्ट्रीय सचिव-भाजपा किसान मोर्चा) भी उपस्थित थे। ग्रेवाल जम्मू और कश्मीर, भारत-तिब्बत संघ की इकाईयों के साथ भी जुड़े हुए हैं।

PunjabKesari

मोर्चा पहले ही कर चुका है जांच की मांग
किसान मोर्चा के वरिष्ठ नेता राकेश टिकैत, जोगिंदर यादव और बलबीर सिंह राजेवाल पहले ही कह चुके हैं कि पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए। अभद्रता के सबूत सामने आने चाहिए और हत्यारों को सजा मिलनी चाहिए। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा था कि उन्होंने निहंग संगठनों को पहले ही जाने के लिए कह दिया था, यह धार्मिक संघर्ष नहीं बल्कि किसानी संघर्ष है। साथ ही किसान मोर्चा ने स्पष्ट कर दिया था कि वह किसी भी हिंसक घटना के पक्ष में नहीं है।

PunjabKesari

मृतक की बहन ने पहले ही किया था बड़ा खुलासा
निहंग सिंहों की तरफ से सिंघु बॉर्डर पर बेरहमी के साथ कत्ल किए गए तरनतारन के गांव चीमा कलां के लखबीर सिंह उर्फ टीटू की बहन ने खुलासा करते बताया था कि कत्ल से 6 दिन पहले वह घर से 50 रुपए लेकर झबाल की दानामंडी में दिहाड़ी लगाने गया था। मृतक की बड़ी बहन राजविन्दर कौर और लखबीर एक ही मकान में रहते थे। राजविन्दर ने बताया कि लखबीर सिंह ने 13 अक्तूबर को गांव में एक विवाह समारोह में भाग लिया था और शाम के समय पर एक निहंग सिंह के भेस में आया कोई व्यक्ति उसे अपने साथ ले गया था। बहन ने बताया कि वह अकसर किसी ‘संधू ’ नाम के व्यक्ति के साथ काफी समय तक मोबाइल पर बातें करता रहता था और कहता था कि उसकी पहुंच अब बहुत दूर तक हो गई है। उन्होंने यह भी बताया कि फोन करते समय वह सभी को कमरे से बाहर निकाल देता था। राजविंदर ने कहा कि वह बेअबदी नहीं कर सकता।

PunjabKesari

ऐसे हुई थी वारदात
बता दें कि शुक्रवार को सिंघु बॉर्डर के पास निहंग जत्थेबंदी बाबा बलविंदर सिंह मोइयां की मंडीवाला (मुख्य स्थान श्री फतेहगढ़ साहिब) के टेंट से भागे एक युवक की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। उसके शव के टुकड़े-टुकड़े करके पुलिस बैरिकेड्स से लटका दिया गया था। वायरल वीडियो के मुताबिक कुछ निहंग सिंहों द्वारा हत्या की जिम्मेदारी ली गई है। कुंडली थाना पुलिस ने धारा 302 और 34 के तहत मामला दर्ज किया है। इस दौरान निहंग जत्थेबंदी के सदस्य सर्बजीत सिंह ने भी पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है और युवक की नृशंस हत्या की जिम्मेदारी ली है। पुलिस ने मेडिकल टेस्ट के बाद सर्बजीत को गिरफ्तार कर लिया है।

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Related News

Recommended News