पुलिस ने 3 दिन के अंदर सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी, सिक्योरिटी गार्ड को उतारा था मौत के घाट

punjabkesari.in Thursday, Jun 24, 2021 - 06:01 PM (IST)

फगवाड़ा(जलोटा): वैज्ञानिक जांच के बाद अपराध वाली जगह से मिलले छोटे सुरागों द्वारा फगवाड़ा पुलिस ने तीन दिन के अंदर अंधे कत्ल और लूटपाट की वारदात को हल करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस वारदात में 20 जून को गांव बघाना में एक ईंटों के भट्टो के 35 वर्षीय सिक्योरिटी गार्ड को कत्ल कर दिया गया था और मौके से एक न्यू हालैंड ट्रैक्टर सहित अन्य सामान लूट लिया गया था। वारदात में शामिल आरोपियों की पहचान मूसा पुत्र मुहम्मद खान उर्फ भट्टी निवासी गांव बेला, चम्बा, हिमाचल प्रदेश और सुखविन्दर सिंह उर्फ लक्की पुत्र गुरचरण सिंह निवासी गांव गुजरातां, फगवाड़ा के तौर पर हुई है। उनका एक साथी बलजीत सिंह पुत्र जसवंत सिंह निवासी गांव रामपुर सुन्नरां अभी फरार है।

एक प्रैस कान्फ़्रेंस में जानकारी देते हुए एस.एस.पी. श्री हरकमलप्रीत सिंह खख ने बताया कि गांव बघाना में स्थित एक ईंटों के भट्टे पर तैनात सुरक्षा गार्ड देसराज का कत्ल कुछ अज्ञात लोगों द्वारा 19-20 की रात के बीच किया गया था। साथ ही एक न्यू हालैंड ट्रैक्टर सहित कुछ समान की लूटा गया था। उन्होंने बताया कि इस अंधे कत्ल और लूटपाट का मामला मृतक की पत्नी उशा निवासी पूरा, मध्य प्रदेश के बयान पर दर्ज किया गया था।

एस.एस.पी. ने कहा कि एस.पी. फगवाड़ा सरबजीत सिंह बाहिया और डी.एस.पी. परमजीत सिंह की निगरानी में एस.एच.ओ. रावलपिंडी, सी.आई.ए. स्टाफ फगवाड़ा और इंचार्ज पुलिस चौकी के पाशटा सहित पुलिस की अलग-अलग टीमें बनाईं गई थीं। उन्होंने बताया कि पुलिस की यह टीमें इस मामले को सुलझाने के लिए अलग-अलग सिद्धांतों पर काम कर रही थीं और इसकी वैज्ञानिक जांच में उन्हें कुछ अहम सुराग मिले जिसके द्वारा पुलिस मुलजिमों को मूसा और सुखविन्दर तक पहुंचने में कामयाब हुई।

उन्होंने आगे बताया कि दोनों आरोपियों को पुलिस ने चैकिंग दौरान बेईं पुली गांव दुग्गां थाना रावलपिंडी से उस समय गिरफ्तार किया जब उन्होंने पुलिस पार्टी को देखकर भागने की कोशिश की थी। प्राथमिक पूछताछ दौरान पकड़े गए आरोपियों ने खुलासा किया कि यह लूट की साज़िश बलजीत सिंह पुत्र जसवंत सिंह निवासी गांव रामपुर सुन्नरां ने रची थी और इन सभी आरोपियों ने रात के समय लोगों के घरों में लूटपाट करने के लिए एक गिरोह बनाया हुआ था।

एस.एस.पी. ने कहा कि इस गिरोह का प्रमुख बलजीत सिंह गिरफ्तारी से बचने के लिए भाग गया है लेकिन पुलिस टीमों को उसके ठिकानों पर छापेमारी करने के लिए लगाया गया है और जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि पुलिस को इस कत्ल और लूट में इस्तेमाल की गई ऑल्टो कार नंबर (पीबी 36 -जे-7255) की भी तलाश है। उन्होंने आगे बताया कि पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपियों की बताई हुई जगह से देसराज को मारने के लिए इस्तेमाल किए हथियार, चोरी किया न्यू होलैंड ट्रैक्टर, बैंक का कार्ड और आधार कार्ड सहित अन्य सामान बरामद किया है। उन्होंने कहा कि पुलिस टीम गिरफ्तार किए आरोपियों को आज मैजिस्ट्रेट के सामने पेश करेगी और इस केस की आगे की जांच के लिए उनसे पुलिस रिमांड की मांग करेगी। 

पंजाब और अपने शहर की अन्य खबरें पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Related News

Recommended News