पंजाब पुलिस अकैडमी ड्रग रैकेट मामला, रिमांड खत्म होने पर जेल भेजे आरोपी

punjabkesari.in Wednesday, May 25, 2022 - 10:49 AM (IST)

फिल्लौर (भाखड़ी): पुलिस अकैडमी में चल रहे नशे के ड्रग रैकेट का पर्दाफाश होने के बाद पकड़े गए 7 पुलिस मुलाजिमों को अदालत ने 2-2 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा था रिमांड पर लेने के बाद भी स्थानीय पुलिस के हाथ खाली हैं। रिमांड खत्म होने के बाद सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

स्थानीय पुलिस ने मुकद्दमा दर्ज कर पहले 2 आरोपियों शक्ति और जय को पकड़ा जबकि पंजाब केसरी ने समाचार पत्र में 7 मई को ही खुलासा कर दिया था कि अकैडमी में और 10 के करीब पुलिस मुलाजिम नशे के आदी हैं। इसके बाद प्रशासन ने जागने में 3 सप्ताह लगा दिए और गत दिवस और 5 पुलिस मुलाजिमों को पकड़ सभी सातों को अदालत में पेश कर 2 दिन के रिमांड पर ले लिया।

मृतक हवलदार हरमन बाजवा के परिवार वालों ने बताया कि आरोपियों के लिए गए रिमांड के बाद हरमन की एक स्विफ्ट कार, 2 एक्टिवा स्कूटरी जो शक्ति के पास गिरवी पड़े हैं, वह बरामद किए जाने थे। इसके इलावा एक सिपाही ने अपने बयानों में बताया कि वह शक्ति से अब तक 10 से 12 लाख का चिट्टा लेकर पी चुका है जिसके रुपए उसने शक्ति के खाते में डलवाए हैं। स्थानीय पुलिस ने आरोपी पुलिस मुलाजिमों की सीधे तौर पर मदद करते हुए न तो मृतक हवलदार की कार और स्कूटरियां बरामद कीं और न ही सिपाही के 10 से 12 लाख रुपए मात्र एक फॉयल पेपर और एक पन्नी उनसे बरामद कर अदालत में पुलिस ने पेश कर दी।

स्थानीय पुलिस आरोपी पुलिस मुलाजिमों के बाहर तस्करों से कैसे संबंध बने, इस रहस्य से भी नहीं उठा सकी पर्दा
हैरानी की बात है कि जांच अधिकारियों की रिपोर्ट में हर उस चीज का जिक्र है कि आरोपी पुलिस अधिकारी कैसे अकैडमी में माल लाते थे और कैसे उसे आगे बेचते थे। उन्होंने रिपोर्ट में यह भी लिखा कि यह बहुत बड़ी जांच का विषय है, इसके बावजूद पुलिस एक भी रहस्य से पर्दा नहीं उठा पाई कि शक्ति और उसके 6 साथी पुलिस मुलाजिमों के बाहर बैठे नशा तस्करों से संबंध कैसे स्थापित हुए और वह उनसे कैसे माल खरीदते थे।

पुलिस न तो तस्करों को पकड़ पाई और न ही एक भी घटना से पर्दा उठा पाई जिससे साफ पता चलता है कि पुलिस पकड़े गए मुलाजिमों को बचाने में लग गई जिससे किसी और बड़े अधिकारी का नाम न सामने आ जाएं।

अकैडमी की डायरेक्टर ने नहीं उठाया कोई ठोस कदम
यह सब कुछ पंजाब पुलिस अकैडमी में खुलेआम चल रहा था जिसका पर्दाफाश हुआ तो जांच टीम बैठा दी। जांच टीम ने हर पहलू से पर्दा उठा दिया जिसके बाद पहले स्थानीय पुलिस ने 2 पुलिस मुलाजिमों को नशा पीने और तस्करी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। मीडिया में हो रही किरकिरी के बाद जाकर 5 और पुलिस मुलाजिमों को पकड़ लिया गया। इतना सब कुछ होने के बाद भी अकैडमी की डायरेक्टर की तरफ से कोई ठोस कदम नहीं उठाया ताकि दूसरों को सबक मिल जाता और वह भविष्य में ऐसी गलती नहीं करते।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News