सचिन जैन हत्या मामले में सामने आई CCTV फुटेज, हुए कई अहम खुलासे

7/24/2021 11:54:38 AM

जालंधर(वरुण): जैन करियाना स्टोर को निशाना बनाने के पीछे कारण रोड का रात के समय सूना होना ही सामने आया है। जिस जगह पर सचिन जैन की दुकान है, उसके आसपास ज्यादातर दुकानें बिल्डिंग मैटीरियल की हैं जो शाम 7.30 से 8 बजे तक बंद हो जाती हैं। अकेला जैन करियाना स्टोर ही रात 9 बजे या फिर ग्राहक होने पर 9:30 बजे तक बंद होता था। सचिन जैन की मौत के बाद एक सी.सी.टी.वी. फुटेज भी सामने आई है जिसमे साफ दिखाई दे रहा है कि लुटेरों ने वारदात करने से पहले मौके पर ही प्लानिंग की थी।

PunjabKesari

19 जुलाई की रात 9 बजकर 1 मिनट पर जब सचिन अपनी दुकान में था तो उसके बगल की सीमैंट वाली दुकान के बाहर मास्क पहने 2 लुटेरे पहले से ही खड़े थे। कुछ सैकेंड के बाद उन्हें सामने से आए तीसरे लुटेरे ने इशारा किया जिसके बाद तीनों एकदम से दुकान में घुस गए। 2 लुटेरे बाइक पर कुछ दूरी पर थे। उस समय सचिन दुकान के अंदर सामान बटोर रहा था। जैसे ही उसे लुटेरों की मंशा पता चली, उसने तीनों लुटेरों को एक साथ दुकान के बाहर धकेला। इसी दौरान एक लुटेरे ने फायर पर दिया जो सचिन के पेट में लगा। लुटेरों को धकेलते हुए भी सचिन चिल्लाता रहा और गोली लगने के बावजूद उसने लुटेरों का पीछा किया व बाद में दुकान के बाहर आकर सड़क पर गिर गया। दुकान के अंदर घुसने और गोली चलाकर भागने में लुटेरों को मात्र 7 सैकेंड लगे। गोली मारने के बाद वड्डा प्रीत और साहिल एक बाइक पर फरार हुए, बाकी 3 लुटेरे दूसरी बाइक पर भागे।

जहां पर सचिन की दुकान है, उसकी कुछ ही दूरी पर करीब डेढ़ माह पहले भी फायर हुआ था। गोली इमीग्रेशन के दफ्तर की तीसरी मंजिल की खिड़की को लगी थी। हालांकि पुलिस ने इस मामले में गोली चलाने वालों को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन आसपास के लोगों की मानें तो उक्त रोड पर छीना-झपटी की वारदातें होती रहती हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Recommended News

static