सिख संगठनों ने रोष मार्च में लगाए खालिस्तानी नारे

punjabkesari.in Sunday, Dec 10, 2023 - 09:31 AM (IST)

बठिंडा : विश्व मानवाधिकार दिवस के उपलक्ष्य में दल खालसा की ओर से शहर में रोष मार्च किया गया जिसमें जमकर खालिस्तान के पक्ष में नारे लगाए गए। इस दौरान पुलिस ने नाकाबंदी करके रोष मार्च रोकने की कोशिश की लेकिन प्रदर्शनकारी पुलिस की नाकाबंदी तोड़कर निकल गए। इस मौके पर प्रवक्ताओं ने जम्मू-कश्मीर व मणीपुर हिंसा की निंदा करते हुए कहा कि केंद्र व राज्य सरकारों की ओर से अलग विचार रखने वालों को दबाया जा रहा है।

सरकारों के खिलाफ बोलने वालों को बिना किसी जुर्म के जेलों में बंद करके उनके मानवाधिकारों का हनन किया जा रहा है। अल्पसंख्यकों पर लगातार जुल्म किए जा रहे हैं। सैंकड़ों की संख्या में सिख बंदी दशकों से जेलों में बंद हैं। उन्होंने कहा कि बिना किसी मुकद्दमे व बिना किसी अपील-दलील के लंबे समय तक बुद्धिजीवियों, पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, लेखकों, विद्यार्थियों को जेलों में बंद करके उनके मानवाधिकारों को कुचला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ किसी अदालत में कोई केस नहीं चल रहा लेकिन फिर भी उन्हें जेलों में बंद रखा जा रहा है। पंजाब में भी इसी प्रकार एन.एस.ए. लगाकर नौजवानों को प्रदेशों की जेलों में बंद किया गया है। उन्होंने मांग की कि बिना किसी कारण के बंद किए गए नौजवानों को रिहा किया जाए व देश में फांसी की सजा को पूरी तरह बंद किया जाए। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Recommended News

Related News