ट्रांसपोर्ट विभाग का सख्त रवैया, प्राइवेट व सरकारी बसों पर गिरी गाज

10/14/2021 3:39:14 PM

जालंधर (पुनीत): नियमों के उलट चलने वाली प्राइवेट बसों पर ट्रांसपोर्ट विभाग बेहद सख्ती दिखा रहा है और टैक्स आदि अदा न करने वाले ट्रांसपोर्टज पर बड़ी संख्या में चालान किए जा रहे हैं। इस संदर्भ में बुधवार विजीलैंस की तरफ से बस अड्डों में छापेमारी करके बसों के टाइम-टेबलों का रिकार्ड अपने कब्जे में लिया गया और काऊंटरों पर लगे हुए बसों के टाइम-टेबल को रजिस्टर के साथ चैक किया गया।

ट्रांसपोर्ट विभाग के पास कई शिकायतें पहुंची हैं कि प्राईवेट बसों के अड्डों के अंदर काऊंटरों पर सवारियां उठाने के लिए ज्यादा समय दिया जा रहा है। सूत्र बताते हैं कि इस आधार पर उक्त छापेमारी हुई है। एस.पी. और डी.एस.पी. रैक के आधिकारियों का नेतृत्व में बुधवार प्रातःकाल साढ़े 9 बजे के लगभग बस अड्डे पहुंची विजीलैंस की उक्त टीम ने 2 घंटे तक अपनी मुहिम चलाई रखी। 

टीम के पहुंचने की सूचना के साथ ही बस अड्डे में खलबली मच गई। टीम की चैकिंग दौरान कई बसों ने काऊंटर छोड़ने चाहे परन्तु उनको रोक कर जांच की गई। जो कोई भी बसें अड्डे अंदर दाखिल हो रही थीं उनके भी कागजातों की जांच की जा रही थी। इस दौरान टैक्स संबंधित कागजात न होने के कारण विभाग की तरफ से दोआबा ट्रांसपोर्टर के साथ संबंधित एक बस को जब्त कर लिया गया। आधिकारियों की तरफ से इस संबंधित कुछ भी कहने से इंकार कर दिया गया है।

सूत्र बताते हैं कि अपने टाइम पर काऊंटर पर बसें न लाने वाले चालकों और अड्डा आधिकारियों पर भी इस की गाज गिर सकती है। विभाग की तरफ से पहले बस अड्डो के बाहर सड़कों पर कागजात आदि की जांच करके उनके चालान किए जा रहे थे। इसी संदर्भ में पिछले दिनों जालंधर में बादलों के साथ सबंधित एक बस के कागज पूरे न होने पर चालान किया गया था और तीन बसों को जब्त करके परागपुर चौकी में खड़ा करवा दिया गया था। नाम न छापने की शर्त पर आधिकारियों ने बताया कि सरकारी की जगह प्राईवेट बसों को काऊंटर पर ज्यादा समय देने के साथ विभाग को आर्थिक तौर पर नुक्सान बरदाश्त करना पड़ रहा है। इस कारण सरकारी बसों में सवारियों कम होती हैं जबकि प्राईवेट बसें भर कर रवाना हो रही हैं। इस संबंधित आने वाले दिनों में काऊंटर पर बसों के लगने संबंधित जांच होगी। इस मामले को लेकर रोडवेज के अधिकारी भी एक्टिव हो चुके हैं। 

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Recommended News

static