बेअदबी मामला व अस्थाना का पत्र लीक होने पर सुखजिंदर सिंह रंधावा का जवाब

punjabkesari.in Wednesday, Dec 15, 2021 - 10:26 AM (IST)

जालंधर (सुनील धवन): पंजाब कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष स्व. संतोख सिंह रंधावा के पुत्र सुखजिंद्र सिंह रंधावा को बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में राज्य में कांग्रेस हाईकमान ने उप-मुख्यमंत्री बनाने के साथ-साथ गृह विभाग की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी सौंपी है तथा इस समय राज्य में वह कांग्रेस की राजनीति को पूरी तरह से प्रभावित कर रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः खैहरा को राहत: हाईकोर्ट ने किया ED की याचिका को खारिज

पंजाब विधानसभा के चुनाव भी निकट आ रहे हैं और इस समय राज्य में धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी व ड्रग्स का मुद्दा काफी गर्माया हुआ है। रंधावा के साथ विशेष साक्षात्कार के दौरान कुछ सवाल पूछे गए जिनके उन्होंने निम्र जवाब दिए :

प्र. : पंजाब में चन्नी सरकार बनने के बाद अभी धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी का मसला हल नहीं हुआ है?
उ. : हमें काम करने के लिए मात्र 2 महीनों का समय ही मिला है। अगर हमें अधिक समय मिला होता तो अब तक यह मसला हल हो गया होता परंतु फिर भी कांग्रेस सरकार इन मामलों में सिख समुदाय को इंसाफ देने के लिए जी-जान से जुटी हुई है।

प्र. : फिर यह मसला किस तरह हल होगा?
उ. : वास्तव में इस मामले में कुछ संवेदनशील लोगों से पूछताछ करने की जरूरत है। जब भी उनसे पूछताछ करने का समय आता है तो वह हाईकोर्ट की शरण ले लेते हैं। इसके बावजूद पंजाब सरकार हाईकोर्ट में भी अपना पक्ष मजबूती के साथ रख रही है। हम धार्मिक बेअदबी के दोषियों को किसी भी कीमत पर बचने नहीं देंगे तथा उन्हें सजा दिलाकर ही दम लेंगे। पिछले साढ़े चार साल में तो कुछ हुआ ही नहीं था। ऐसी स्थिति में अब हमारे कंधों पर जो जिम्मेदारी जनता ने डाली है उसे पूरी तरह से निभाया जाएगा।

प्र. : ड्रग्स मामले को लेकर बड़े मगरमच्छों पर अभी तक हाथ नहीं डाला गया?
उ. : ड्रग्स मामले की जांच शुरू कर दी गई है तथा जल्द ही बड़े मगरमच्छों के चपेट में आने के आसार हैं।

प्र. : हाईकोर्ट में पड़ी रिपोर्ट को लेकर बार-बार सवाल खड़े किए जा रहे हैं?
उ. : हाईकोर्ट ने पंजाब सरकार को ड्रग रैकेट की जांच करने से रोका नहीं है। हमने पुलिस अधिकारियों को जांच के लिए कहा है ताकि बड़े मगरमच्छों का पर्दाफाश किया जा सके। जो भी राजनेता ड्रग रैकेट को लेकर शोर मचा रहे हैं उससे दाल में कुछ काला अवश्य दिखाई देता है।

प्र. : पंजाब के ब्यूरो ऑफ इन्वैस्टीगेशन के ए.डी.जी.पी. एस.के. अस्थाना ने छुट्टी ले ली है तथा ड्रग मामले में जांच करने से इंकार किया है?
उ. : मैंने अभी इस मामले को गहराई से देखना है परंतु अभी फिलहाल जल्दबाजी में कुछ भी कहना ठीक नहीं होगा।

प्र. : ए.डी.जी.पी. अस्थाना का पत्र लीक हो गया है, आप क्या कहना चाहेंगे?
उ. : ए.डी.जी.पी. अस्थाना का पत्र किस तरह से मीडिया में लीक हुआ है इसकी सरकार द्वारा जांच अवश्य करवाई जाएगी। 
पंजाब पुलिस के अंदरूनी मामले किस तरह से बाहर गए हैं इसका पता लगाना जरूरी है। वह डी.जी.पी. से बात करके मामले की जांच करवाने के आदेश जारी करवाएंगे। इसमें जो भी दोषी पाया गया उसके विरुद्ध नियमों के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

प्र. : पत्र में यह बात कही गई है कि पुलिस अधिकारियों पर अकाली नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए सरकार द्वारा दबाव डाला जा रहा है?
उ. : ऐसी कोई बात नहीं है। किसी भी पुलिस अधिकारी पर कोई दबाव नहीं है। वास्तव में पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट ने पंजाब सरकार को ड्रग मामले की जांच करने से रोका नहीं है। इस मामले में जांच को शुरू करके अंजाम तक पहुंचाया जाएगा। पंजाब की नौजवान पीढ़ी को नशों की दलदल में धकेलने वालों को किसी भी कीमत पर माफ नहीं किया जा सकता।

प्र. : क्या आपको लगता है कि चुनाव से पहले धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी व नशों का मामला हल कर लिया जाएगा?
उ. : मौजूदा पंजाब सरकार की नीयत पर किसी भी पंजाबी को शक नहीं है। पिछले साढ़े 4 वर्षों में हमें तो जांच के कार्य के साथ जोड़ा ही नहीं गया था। बंद कमरे में बैठकें होती थीं। हम बाहर ही रहते थे। अब जिम्मेदारी मिली है तो उसे पूरा अवश्य किया जाएगा।

प्र. : अगर यह मसले हल न हुए तो क्या चुनावों में कांग्रेस को नुक्सान होगा?
उ. : मुझे नहीं लगता कि ऐसा कुछ भी होगा क्योंकि पंजाब की जनता को कांग्रेस सरकार पर पूरा भरोसा है और हम इन मसलों को हल करके ही दम लेंगे।

प्र. : पंजाब में अकाली दल ने कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया है कि वह सुखबीर व मजीठिया के खिलाफ द्वेष की भावना से केस दर्ज करवाना चाहती है?
उ. : अगर वह बेगुनाह है तो फिर उन्हें डरने की क्या जरूरत है। कांग्रेस सरकार किसी भी बेगुनाह के खिलाफ बदले की भावना से कार्रवाई नहीं करेगी परंतु जो भी दोषी होगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा।

दिल्ली में ड्राइंग रूम में बैठ कर होने वाले चुनावी सर्वेक्षण कभी सही नहीं निकले
सुखजिंद्र रंधावा का मानना है कि दिल्ली में ड्राइंग रूम में बैठ कर किए जाने वाले चुनावी सर्वेक्षण कभी भी सही नहीं निकले हैं। उन्होंने कहा कि चुनावी सर्वेक्षणों में चाहे आम आदमी पार्टी को सबसे बड़े दल के रूप में पेश किया जा रहा है परंतु पिछली बार भी 2017 में कांग्रेस को 35 से 40 सीटें दी जा रही थीं। चुनावी नतीजे जब आए तो कांग्रेस को जनता ने स्पष्ट बहुमत दिया। वैसे भी अगर देखा जाए तो पिछले कुछ समय के दौरान चुनाव से पूर्व या चुनाव के बाद जो सर्वेक्षण किए जाते हैं उनके नतीजे सही नहीं आए हैं।

केजरीवाल पर पंजाबी भरोसा नहीं करेंगे 
रंधावा का मानना है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर पंजाब के लोग भरोसा नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि केजरीवाल जो घोषणाएं पंजाब में कर रहे हैं पहले उन्हें इनको दिल्ली में लागू करना चाहिए। उन्होंने कहा कि माझा तथा दोआबा क्षेत्र में आम आदमी पार्टी का कोई जनाधार नहीं है। पठानकोट में भी केजरीवाल ने तिरंगा यात्रा निकाली थी तथा अब कल वह जालंधर में तिरंगा यात्रा निकालने जा रहे हैं। इसका कोई प्रभाव जनता पर दिखाई नहीं दे रहा है।

अकाली दल से बड़ी रैलियां कांग्रेस भी करेगी
अकाली दल द्वारा मोगा में की गई रैली के जवाब में रंधावा ने कहा कि अकाली दल से बड़ी रैलियां कांग्रेस भी करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी राज्य में 4-5 बड़ी रैलियां करने की योजना बना रही है। इसकी घोषणा जल्द ही कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि चुनावों को देखते हुए सभी पार्टियां रैलियां करती हैं तथा लोकतंत्र में सभी को अपने विचार रखने की आजादी है।

चुनावों के बाद मुख्यमंत्री कौन होगा?
जब उनसे पूछा गया कि विधानसभा चुनावों में अगर कांग्रेस को बहुमत मिलता है तो मुख्यमंत्री कौन बनेगा? इसका जवाब देते हुए रंधावा ने कहा कि कांग्रेस की मुख्यमंत्री चुनने की अपनी एक प्रथा है तथा उसे ही अपनाया जाएगा। इस समय तो मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी हैं जो अच्छा कार्य कर रहे हैं तथा उनके नेतृत्व में कांग्रेस सरकार ने कई वायदों को पूरा किया व साथ ही जनता को कई प्रकार की रियायतें भी दी गई हैं।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News