सारी रात लाश के पास विलाप करते रहे परिजन, शमशान गए तो जलाने के लिए मांगे दस्तावेज

8/12/2020 6:10:06 PM

लुधियानाः पंजाब में कोरोना का कहर लगातार जारी है। हर रोज इस बीमारी से हो रही मौतों से लोग दहशत में हैं। इतना ही नहीं किसी अन्य बीमारियों से होने वाली मौत को भी लोग कोरोना से ही जोड़ कर देखने लगे है। कुछ ऐसा ही एक मामला लुधियाना की बाजीगर बस्ती का सामने आया है, जहां  सोमवार रात मजदूर की मौत होने के बाद मोहल्ले के लोगों ने उसका शव इलाके में घुसने नहीं दिया। परिवार सारी रात  शव को लेकर प्लाट में बैठा रहा।

मृतक की पहचान अनिल (50) के रूप में हुई है, जो डाइंग फैक्ट्री में काम करता था। परिवार मुताबिक सोमवार शाम उसकी तबीयत खराब हो गई और वो चक्कर खाकर गिर गया। फैक्ट्री के वर्कर जब उसे अस्पताल ले गए तो वहां पहुंचने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जब शव को लेकर घर पहुंचे तो मोहल्ले के लोगों ने अंदर आने नहीं दिया और कहा कि अनिल की मौत कोरोना से हुई है, तो यहां कोरोना फैलने का खतरा है।

इसके बाद मृतक के परिजन शव को लेकर सारी रात एक खाली प्लॉट में लेकर बैठे रहे। सुबह होने पर संस्कार के लिए श्मशानघाट पहुंचे तो प्रबंधकों ने दस्तावेज मांगे लेकिन परिवार वालों के पास मौत का कोई कारण नहीं था। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने तुरंत डॉक्टरों से पूछा तो मौत के असली कारण का पता चला, जिसके बाद संस्कार करने की अनुमति दी गई।


Vatika

Related News