इस हलके में होगी कड़ी टक्कर, क्या CM चन्नी कर पाएंगे जीत हासिल?

punjabkesari.in Wednesday, Mar 09, 2022 - 02:44 PM (IST)

मोरिंडा (अरनौली) : पंजाब विधानसभा चुनाव में पंजाब की सबसे चर्चित हॉट सीट हलका श्री चमकौर साहिब जहां से पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी चौथी बार किस्मत आजमा रहे हैं तथा मुकाबला बेहद मुश्किल नजर आ रहा है। बता दें वर्तमान मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने 2007 में श्री चमकौर साहिब निर्वाचन क्षेत्र से आजाद चुनाव लड़ा और जीता। उन्होंने कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार के रूप में 2012 का विधानसभा चुनाव लड़ा और जीता और 2016 में शिरोमणि अकाली दल सरकार के दौरान विपक्ष के नेता बने। 2017 के विधानसभा चुनावों में मुकाबला त्रिकोणीय था। इसमें कांग्रेस के चरणजीत सिंह चन्नी, आम आदमी पार्टी से डॉ. चरणजीत सिंह और शिरोमणि अकाली दल -भाजपा गठबंधन की तरफ से शिरोमणि अकाली दल की एक वरिष्ठ नेता कैबिनेट मंत्री सतवंत कौर संधू के परिवार को छोड़ के हलका  बस्सी पठाना से शिरोमणि अकाली दल के विधायक जस्टिस निर्मल सिंह को चुनाव मैदान में उतारा गया था। इस दौरान सतवंत कौर संधू के समर्थकों में विरोध देखने को मिला था। कांग्रेस के उम्मीदवार चरणजीत सिंह चन्नी ने आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार डॉ. चरनजीत सिंह को 12000 से भी ज्यादा वोटों से हरा कर जीत प्राप्त की थी जबिक शिरोमणि अकाली दल भाजपा गठजोड़ के उम्मीदवार जस्टिस निर्मल सिंह तीसरे स्थान पर रहे। 

2022 के विधानसभा चुनाव की बात करें तो इन चुनावों में मुकाबला 2017 के मुकाबले काफी कड़ा नजर आ रहा है क्योंकि 2022 के चुनाव में जहां पंजाब में शिरोमणि अकाली दल ने  भाजपा से अपना गठबंधन खत्म कर बसपा से हाथ मिला लिया है। श्री चमकौर साहिब की सीट बसपा के हिस्से आई है। शिरोमणि अकाली दल-बसपा गठबंधन की ओर से कैबिनेट मंत्री सतवंत कौर के बेटे रिटायर्ड ए.आई.जी. हरमोहन सिंह संधू मैदान में हैंय़ इसके अलावा 'आप' ने वापस डॉ. चरणजीत सिंह को फिर से उम्मीदवार बनाया है, जबकि पंजाब में भाजपा इस बार अपने दम पर चुनाव लड़ रही है, जिसने शिरोमणि अकाली दल के सीनियर नेता दर्शन सिंह शिवजोत को अपना उम्मीदवार बनाया है। इनके अलावा संयुक्त समाज पार्टी, जो पूरे पंजाब में विधानसभा चुनाव लड़ रही है, ने हलका श्री चमकौर साहिब में कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है। लेकिन भारतीय किसान संघ लखोवाल ने आप उम्मीदवार डॉ. चरणजीत सिंह को अपना समर्थन दिया है। इस कारण इस बार हलके से मुख्यमंत्री चन्नी विरुद्ध बेहद सख्त मुकाबला देखने को मिल रहा है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kamini

Related News

Recommended News