कोरोना को लेकर पंजाब सरकार की तरफ से जारी हुई ये नई Guidelines

4/7/2021 4:23:55 PM

पंजाब: पंजाब में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए कैप्टन सरकार की तरफ से एक बार फिर दिशा-निर्देशों में बदलाव किए गए है। रोजाना आ रहे संक्रमित मामलों का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है जिसको लेकर पंजाब सरकार ने एक बार पहिए से नाईट कर्फ्यू की अवधि को बढ़ा दिया है। कैप्टन ने कहा कि यह चिंता का विषय है कि पंजाब में 85% से अधिक मामले ब्रिटेन स्ट्रेन के हैं, जो अधिक हानिकारक है। इसी के साथ-साथ सरकार ने कुछ नई पाबंदियां और रियायतें भी जनता को प्रदान की है। 

जारी हुए नए दिशा-निर्देश 
- पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 30 अप्रैल तक राजनीतिक सभाओं पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है।
- इसी के साथ अगर कोई भी इस फैसले की उल्लंघना करता नजर आया तो उनके खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जाएगा।
- रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक रात के कर्फ्यू को भी 30 अप्रैल तक बढ़ाया।
- अंतिम संस्कार / श्मशान / शादियों और अन्य समारोह  में अब उपस्थित लोगों की संख्या को कम करके 50 लोगों को इनडोर और 100 को आउटडोर रखा गया है।
- स्कूल- कॉलेजों को भी अब 30 अप्रैल तक बंद करने के दिशा-निर्देश जारी किए गए है।
- इसी के साथ मॉल को रियायत देते हुए 200 लोगों को एंट्री की मंजूरी दी गई है। निर्देशों अनुसार मॉल में 20 दुकानों में अब 200 की अनुमति है। 
- इसी के साथ एक दुकान में 10 में लोग प्रवेश कर सकते है।
- कैप्टन की तरफ से पुलिस और जिलों के प्रशासन को आदेश दिया गया है कि कि रैलियों के लिए तम्बू देने वाले मालिकों और बुकिंग करने वालों के खिलाफ भी सख्त कदम उठाए जाएंगे। 
- आयोजन स्थल के मालिक, जो इस तरह के आयोजनों के लिए जगह प्रदान करेंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा, इसी के साथ उनके स्थानों को तीन महीने के लिए सील कर दिया जाएगा।
- सभी सरकारी दफ्तरों में मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है।
- इसी के साथ दफ्तरों में पब्लिक डीलिंग प्रतिबंधित की गई है और इसके साथ ऑनलाइन और वर्चुअल मोड को प्रोत्साहित करने के दिशा-निर्देश जारी हुए है।

गौरतलब है कि राज्य में कोरोना की स्थिति विकराल होती जा रही है।  अब तक इस बीमारी से 7224 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 2609 नए पॉजिटिव रोगियों के साथ राज्य में अब तक 256947 लोग संक्रमित हो चुके है,जिसमें से 25253 लोग उपचाराधीन है। 


Content Writer

Tania pathak

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static