तृप्त बाजवा ने नए चुने गए 14 मछली पालन अफसरों को सौंपे नियुक्ति पत्र

punjabkesari.in Tuesday, Dec 14, 2021 - 04:45 PM (IST)

चंडीगढ़ः तृप्त राजिन्दर सिंह बाजवा ने पशु पालन, मत्स्य पालन और डेयरी विकास विभाग, पंजाब ने आज यहां नवनिर्वाचित 14 मत्स्य पालन अधिकारियों को नियुक्ति पत्र सौंपे। इस मौके पर उन्होंने नवनिर्वाचित मत्स्य पालन अधिकारियों को पूरी निष्ठा और समर्पण के साथ विभाग में अपनी सेवाओं को निभाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : बादलों के गढ़ में गरजेंगे केजरीवाल, करेंगे दो दिन का पंजाब दौरा

मंत्री ने इस मौके पर बताया कि माननीय मुख्यमंत्री साहिब जी के नेतृत्व अधीन मत्स्य पालन विभाग किसानों के कल्याण के लिए बहुत बढिय़ा काम कर रहा है। पिछले 5 वर्षों के दौरान जलजमाव और खारे पानी से प्रभावित इलाकों में किसानों की आमदन में वृद्धि करने के लिए काफी प्रयास किए जा रहे हैं। इन इलाकों में झींगा पालन को खास तौर पर प्रफुल्लित किया जा रहा है। जिससे किसान 1 एकड़ क्षेत्रफल में से 3 लाख रुपए की शद्ध आमदनी प्राप्त कर रहे हैं। 

उन्होंने बताया कि इस वर्ष 850 एकड़ झींगा पालन के अधीन लाया गया है। आने वाले 5 वर्षों के दौरान झींगा पालन को 5000 एकड़ क्षेत्रफल में प्रफुल्लित किया जाएगा। झींगा पालन के विकास के लिए सरकार द्वारा गांव ईनाखेड़ा, ब्लॉक मलोट जिला श्री मुक्तसर साहिब में एक ट्रेनिंग-कम-डैमोस्ट्रेशन यूनिट स्थापित करवाया गया है। इस सैंटर में झींगा किसानों को मुफ्त प्रशिक्षण और मिट्टी एवं पानी की जांच की सुविधा प्रदान की जा रही है। 

यह भी पढ़ें : पंजाब का यह गांव पुलिस छावनी में तबदील, 300 कर्मचारी मौके पर तैनात

बाजवा ने बताया कि बढिया किस्म का मछली पूंग रियायती दरों पर किसानों को प्रदान करने के लिए एक नया सरकारी मछली पूंग फार्म गांव अलीशेर खुर्द, जिला मानसा में स्थापित किया गया है। इसी तर्ज पर एक नया सरकारी मछली पूंग फार्म गांव किलावली, जिला फाजिल्का में स्थापित करवाया जा रहा है, यह मछली पूंग फार्म आने वाले वर्ष 2022 में लोगों को समर्पित कर दिया जाएगा। सरकार द्वारा पी.एम.एम.एस.वाई. स्कीम के अधीन 45.82 करोड़ रुपए के विभिन्न प्रोजैक्ट मछली पालन सैक्टर के अधीन स्थापित करवाए जा रहे हैं जिससे राज्य में मछली पालन को काफी बढ़ावा मिलेगा। मछली की बढिय़ा मंडीकरण के लिए 1 और नई थोक-कम-रिटेल मछली मार्केट पटियाला में स्थापित की जा रही है। मछली किसानों को मिट्टी के विश्लेषण सुविधा प्रदान करवाने के लिए 6 अत्याधुनिक प्रयोगशालाएं स्थापित करवाई गई हैं।

उन्होंने आगे बताया कि रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए पंजाब में पहली बार मछली की ढुलाई के लिए ट्रांसपोर्ट व्हीकल जैसे कि साइकिल, मोटरसाइकिल, ऑटो रिक्शा, इन्सुलेटर और रेफ्रिजरेटर वाहन सब्सिडी और युवाओं को मुहैया करवाई जा रही हैं। इसके अलावा मछली पालन की उन्नत तकनीकें जैसे कि री-सर्कुलेटरी एक्वाकल्चर सिस्टम (आर.ए.एस.) और बायो-फ्लोक तकनीक को पंजाब में लाया गया है। इन तकनीकों की मदद से बहुत कम क्षेत्रफल में मछली उत्पादन किया जा सकता है। इन तकनीकों को अपनाने के लिए सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News