श्री दरबार साहिब का हुक्मनामा किसी की जागीर नहीं: तृप्त बाजवा

1/14/2020 12:14:21 PM

चंडीगढ़(भुल्लर): पंजाब के ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री तृप्त राजेंद्र सिंह बाजवा ने कहा है कि श्री दरबार साहिब के हुक्मनामे और गुरबाणी कीर्तन पर अपनी मलकीयत का दावा करना गुरबाणी का घोर निरादर है और यह निरादर करने वाले दोषियों के विरुद्ध सिख परम्पराओं व मर्यादा के अनुसार तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए।

श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार से यह कार्रवाई करने की अपील करते हुए बाजवा ने कहा कि सिख गुरु साहिबान द्वारा उ‘चारण की गई पवित्र बाणी पूरे संसार में बसते प्राणी मात्र के भले के लिए है और पूरा सिख समाज गुरबाणी का रखवाला है परंतु मालिक नहीं। इसलिए श्री दरबार साहिब का हुक्मनामा किसी एक व्यक्ति या संस्था की जागीर नहीं हो सकता।

उन्होंने कहा कि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल की मलकीयत वाले टी.वी. चैनल द्वारा श्री दरबार साहिब में हर रोज प्रात:काल श्री गुरु ग्रंथ साहिब से लिए जाने वाले हुक्मनामे पर केवल अपना हक होने का किया गया दावा गुरबाणी के सर्व सांझे संदेश के बिल्कुल विपरीत हैै। बाजवा ने अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार से अपील की है कि वह शिरोमणि कमेटी को हिदायत दें कि वह गुरबाणी कीर्तन के सीधे प्रसारण के लिए टी.वी. चैनलों और डिजीटल मीडिया के संस्थानों को सुविधा प्रदान करने का बंदोबस्त करे।


Vatika

Related News