120 फुट ऊंचे टावर पर चढ़े 2 बुजुर्ग कहा,'रोजगार लेकर रहेंगे या हमारी लाशें नीचे आएंगी'

7/7/2020 9:11:02 AM

जुगियाल(स्माइल): पिछले लंबे समय से रोजगार पाने के लिए संघर्ष कर रहे बैराज औसती संघर्ष कमेटी जैनी जुगियाल के 2 बुजुर्ग सदस्य सोमवार सुबह चीफ इंजीनियर कार्यालय के सामने लगे बी.एस.एन.एल. के करीब 120 फुट ऊंचे टावर पर चढ़ गए। वे अपने साथ 2 रस्सियां फंदा लगाने के लिए ले गए तथा फोन कर अपने घर वालों को सूचना दी कि अब वे रोजगार लेकर रहेंगे या फिर मर कर हमारी लाशें टावर से नीचे आएंगी। 

जानकारी के अनुसार संघर्ष कमेटी के सदस्य शर्म सिंह (83) और कुलविन्द्र्र सिंह (70) सुबह करीब 4 बजे टावर पर चढ़े थे। इस मौके पर बैराज औसती संघर्ष कमेटी के प्रधान दयाल सिंह ने बताया कि संघर्ष कमेटी पिछले लंबे समय से अपनी जायज मांगों के लिए संघर्ष करती आ रही है, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही जिससे निराश होकर औसती परिवारों के सदस्यों को आज यह कदम उठाना पड़ा है। बैराज औसती संघर्ष कमेटी के सदस्य कुछ समय पहले भी अपनी मांगों को लेकर पठानकोट में टंकी पर चढ़े थे, उस समय डिप्टी कमिश्नर पठानकोट ने उन्हें नौकरी देने का वायदा किया था। उसके बाद एस.डी.एम धारकलां ने गलत नौकरी पाने वालों की जांच भी की थी जिसमें करीब 50 लोग अवैध ढंग से नौकरियां प्राप्त करने वाले पाए गए थे, लेकिन उन लोगों के खिलाफ भी आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। संघर्ष कमेटी के सदस्यों का कहना है कि अब वे आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे। अगर उन्हें तुरंत नौकरी नहीं दी गई और जिन लोगों को गलत तरीके से भर्ती किया गया है, उन्हें बाहर नहीं निकाला गया तो वह अपना संघर्ष उग्र करेंगे और अपनी जान भी दे देंगे। 

एस.डी.एम. ने आश्वासन देकर दोनों बुजुर्गों को टावर से उतारा
बैराज औसती संघर्ष कमेटी को मनाने के लिए एस.डी.एम. धारकलां डा. निधि कलौत्रा, डी.एस.पी. धारकलां रविन्द्र सिंह रूबी व ए.आर.ओ. पठानकोट अरविंद वर्मा, डी.एस.पी. सुखजिन्द्र सिंह मौके पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने उक्त लोगों को टावर से नीचे उतारने के लिए कई प्रयास किए। टावर के नीचे चारों तरफ गद्दे व इर्द-गिर्द जाल भी बिछाया गया। इस दौरान भारी संख्या में पुलिस व पैस्को सिक्योरिटी फोर्स के जवान तैनात किए गए। प्रशासन के कई प्रयासों के बाद अंत में एस.डी.एम. निधि कलौत्रा, ए.आर.ओ अरविंद वर्मा व चीफ इंजीनियर एस.के. सलूजा की ओर से संघर्ष कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक की गई और उन्हें आश्वासन दिया गया कि वीरवार को उनकी जिलाधीश के साथ बैठक करवाई जाएगी, जिसके बाद सभी योग्य औस्तियों को रोजगार दिया जाएगा और जो 50 लोग गलत ढंग से नौकरी कर रहे हैं, उन पर भी बनती कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस आश्वासन के बाद दोपहर करीब 1 बजे दोनों बुजुर्गों को नीचे उतार लिया गया। इस मौके पर एक्सीयन जे.आर. डोगरा, सी.एस.ओ. कर्नल बी.एस. रियाड़, मेजर संपूर्ण सिंह सहित अन्य लोग मौजूद थे।


Vatika

Related News