विवादों मेें घिरा नायब तहसीलदार, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ये शर्मनाक हरकत

punjabkesari.in Friday, May 27, 2022 - 11:47 AM (IST)

लहरागागा (गर्ग): मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की तरफ से राज्य में आरंभ भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम के बावजूद अलग-अलग विभाग में फैला भ्रष्टाचार रुकने का नाम नहीं ले रहा। जिसके चलते बीते दिन तहसील दफ्तर लहरागागा में उस समय विवाद खड़ा हो गया जब एक अर्जी नवीस ने तहसील में काम करवाने आए एक व्यक्ति से नायब तहसीलदार के नाम पर रिश्वत ली, तो उसकी वीडियो रिकाडिंर्ग कर ली गई।

जिसके बाद कोलाहल पड़ने और वहां लोगों ने रिश्वत के विरोध में दफ्तर के गेट आगे धरना लगा दिया। पता चलते ही नायब तहसीलदार की तरफ से धरने पर बैठे लोगों को उनकी तरफ से किसी भी तरह की रिश्वत मांगने या लेने संबंधित विश्वास दिलाने के बाद बेशक धरना तो उठा दिया परन्तु उसके तुरंत बाद अर्जी नवीस की तरफ से नायब तहसीलदार और अन्य स्टाफ के नाम पर किसान के पास से नायब तहसीलदार और अन्य स्टाफ के नाम पर पैसा लेते की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई जो इलाके अंदर चर्चा का विषय बनी हुई है।फिलहाल उक्त मामला पुलिस के पास नहीं पहुचा। अर्जी नवीस फरार बताया जा रहा है।

कारण बताओ नोटिस निकाल : नायब तहसीलदार
उक्त मामले पर नायब तहसीलदार बलवान सिंह ने कहा कि जब यह मामला उनके ध्यान में आया तो उन्होंने तुरंत संबंधित अर्जी नवीस को कारण बताओ नोटिस निकाल दिया और मामला उच्च अधिकारियों के ध्यान में लाया गया व उसका लाइसैंस रद्द करने की सिफारिश भी कर दी, उन्होेंने कहा कि वह भ्रष्टाचार को किसी भी कीमत पर बरदाश्त नहीं करते, वीडियो वायरल होने से पहले ही उन्होंने कार्रवाई कर दी थी।उन्होंने कहा कि उनकी तरफ से 59 रजिस्टरियां की गई हैं की गई हैं, किसी से कोई भी पैसा लेने या मांगने का सवाल ही पैदा नहीं होता। उन्होंने लोगों से अपील की यदि कोई भी व्यक्ति उनके नाम पर कोई पैसा मांगता है तो मामला ध्यान में लाया जाए। दोषी को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।उन्होंने यह भी बताया कि अर्जी नवीस रजिस्ट्री लिख नहीं सकता। सिर्फ इकरार नवीस रजिस्ट्री लिख सकता है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम में लोग सरकार और प्रशासन का साथ दें।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News