‘आप’ के राज्यसभा सदस्य संजीव अरोड़ा ने सुरक्षा के मुद्दे पर ‘पंजाब केसरी’ से की विशेष बातचीत

punjabkesari.in Saturday, May 21, 2022 - 03:19 PM (IST)

लुधियाना (जोशी): पंजाब से आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सदस्य संजीव अरोड़ा ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि राज्य में किसी को भी अराजकता का माहौल पैदा करने का अवसर नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार राज्य में पूरी तरह से शांति व आपसी भाईचारा बनाए रखने के लिए वचनबद्ध है।

‘पंजाब केसरी’ से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले कुछ शरारती तत्वों ने राज्य की शान्ति व आपसी भाईचारे को भंग करने का प्रयास किया था लेकिन राज्य सरकार के सख्त रवैये और पंजाब पुलिस की सतर्कता से पूरी स्थिति पर सफलता से नियंत्रण पा लिया गया था। उन्होंने कहा कि पंजाब के लोगों ने भी एक मिसाल पेश करते हुए शांतिपूर्ण वातावरण को बनाए रखने में अपना पूर्ण सहयोग दिया जिसके लिए वे भी प्रशंसा के पात्र हैं। 

साम्प्रदायिकता के विरुद्ध एकजुटता की जरूरत
उन्होंने कहा कि हाल ही में विभाजनकारी राजनीति करने वाली राजनीतिक पार्टियों को आड़े हाथों लेते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा था कि देश को बांटने वाली भद्दी चालें चलने वालों के विरुद्ध एकजुट होने की जरूरत है। अरोड़ा ने बताया कि पंजाब के मुख्यमंत्री ने यह भी कहा था कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा पेश किया गया जन कल्याण और विकास आधारित एजैंडा ही विभाजनकारी राजनीति को रोकने का एकमात्र हथियार है।

उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की उस बात को दोहराया जिसमें उन्होंने कहा था कि अब समय आ गया है कि देशवासियों को एकजुट होकर समाज में साम्प्रदायिकता के बीज बीजने वाली पार्टियों का सफाया कर देना चाहिए। 

पंजाब के लोग नहीं भूले आतंकवाद के काले दौर को
अरोड़ा ने कहा कि पंजाब में विभिन्न धर्मों व जातियों के लोग बसते हैं और सभी एक-दूसरे के धर्म का सम्पूर्ण आदर करते हैं। पंजाब के लोग पहले आतंकवाद के काले दौर को देख चुके हैं जिस दौरान अनगिनत बेगुनाह लोगों को जान गंवानी पड़ी थी और राज्य की आर्थिकता को गहरी चोट पहुंची थी। इस राज्य के लोग अब उस काले दौर को दोबारा नहीं देखना चाहते और सभी राजनीतिक चालों को अच्छी तरह समझते हैं।

पंजाब की सुरक्षा का मुद्दा सबसे ऊपर 
अरोड़ा ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री के एजैंडे में पंजाब की सुरक्षा का मुद्दा सबसे ऊपर है, क्योंकि राज्य में उद्योग व व्यापार तभी तरक्की कर पाएंगे अगर राज्य के लोग स्वयं को सुरक्षित महसूस कर पाएंगे। सुरक्षा के मुद्दे को मुख्यमंत्री द्वारा कल दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के समक्ष भी उठाया गया था जिसमें राज्य के सुरक्षा मामलों पर चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री के साथ हुई अपनी मुलाकात में कहा है कि सुरक्षा से बढ़कर कुछ भी नहीं है। इस मुलाकात में गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि पंजाब में केंद्रीय सुरक्षा बलों की 10 और कम्पनियां भेजी जाएंगी जबकि केंद्र सरकार पहले भी अर्धसैनिकों की 10 कंपनियां भेज चुकी है।

शरारती तत्वों के लिए चिंता करने का समय
अरोड़ा ने कहा कि पंजाब के व्यापारी, उद्योगपति व अन्य सभी वर्ग के लोग बेखौफ होकर अपने कार्य करें क्योंकि राज्य सरकार उनकी सुरक्षा के लिए उनसे अधिक चिंतित है। उन्होंने कहा कि अब चिंता करने का समय उन शरारती तत्वों का है जो हर समय राज्य की शान्ति को भंग करने की साजिशें बुनते रहते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे तत्वों को राज्य सरकार कभी पनपने नहीं देगी।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News