पंजाब केसरी की खबर का असर, गैर कानूनी माइनिंग मामले में 7 महिलाओं सहित 16 लोगों पर मामला दर्ज

punjabkesari.in Monday, Apr 25, 2022 - 12:00 PM (IST)

तलवाड़ा (ब्यूरो) : 23 अप्रैल को पंजाब केसरी में प्रकाशित खबर ‘अब कुल्लियां, लुबाना, धामिया के आसपास चल रही गैर कानूनी माइनिंग’ का जबरदस्त असर आज उस वक्त नजर आया, जब गांव में पुलिस टीम हाजीपुर, डी.एस.पी. मुकेरियां, माल विभाग सहित जे.ई. और माइनिंग इंस्पेक्टर अजय पांडे ने टीम सहित दौरा कर पूरे क्षेत्र का जायजा लिया, जिसके बाद गैर कानूनी माइनिंग करने वाले एक क्रेशर और अलग-अलग गांवों में गैर कानूनी माइनिंग करवाने वाली 7 महिलाओं सहित 16 लोगों पर पर्चा दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई।

यह भी पढ़ें : 3 साल की बच्ची से पार की शर्म की सारी हदें, हालत देख डॉक्टर भी रह गए हैरान

उन्होंने बताया कि मौके पर कोई भी मशीनरी नहीं पाई गई, परंतु अवैध माइनिंग की गई साफ नजर आई। इसके बाद उन्होंने पूरी तरह जांच पड़ताल की, जिसके चलते एक स्टोन क्रेशर ‘स्टोन लिंकर क्रेशर निक्कू चक्क’ सहित अन्य 16 लोगों पर माइनिंग मिनरल एक्ट के तहत मुकेरियां थाने में पर्चा दर्ज करवा दिया।

यह भी पढ़ें : नवजोत सिद्धू द्वारा 'आप' सरकार पर किए हमले पर बोले कैबिनेट मंत्री लाल चंद

पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार तरसेम सिंह पुत्र ईश्वर सिंह, प्रीतम सिंह पुत्र बाबा सिंह, कुलदीप सिंह पुत्र गुरनाम सिंह, नेत्र सिंह पुत्र स्वर्ण सिंह, परमजीत कौर पत्नी बक्शीश सिंह, सुमनदीप कौर पुत्री बक्शीश सिंह, सुमन लता पत्नी अवतार सिंह, अभिषेक कुमार पुत्र अवतार सिंह, सुच्चा सिंह पुत्र गुरनाम सिंह, श्याम सिंह पुत्र जरनैल सिंह, महेंदर सिंह पुत्र मषा सिंह, कश्मीर कौर पुत्री स्वर्ण सिंह, परमजीत कौर पुत्री स्वर्ण सिंह, बबली देवी पुत्री स्वर्ण सिंह, दिलबाग सिंह पुत्र जरनैल सिंह व प्रीतम कौर पत्नी स्व. गुरनाम सिंह पर कार्रवाई की गई है। माइनिंग ऑफिसर ने बताया कि इन सभी की जमीनों की जांच पड़ताल माल विभाग से करवा ली गई है। इनके द्वारा करवाई गई गैर कानूनी माइनिंग पर नियमों के तहत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि हरे-भरे खेतों को उजाड़ने वाले सजा के हकदार होंगे।

यह भी पढ़ें : किसानों पर पड़ी महंगाई की मार, DAP खाद के बढ़े दाम

इलाके के लोगों ने पंजाब केसरी का किया धन्यवाद
गैर कानूनी माइनिंग करने वालों पर कार्रवाई के बाद स्थानीय ग्रामीण जनता ने पंजाब केसरी समाचार पत्र और जिला प्रशासन का धन्यवाद किया, जिन्होंने उनका दुख समझा और एक्शन लिया। लोगों का कहना है कि हमारी जमीनें बचने की अब आस जगी है। जिस प्रकार अब कार्रवाई की जा रही है। अगर इसी प्रकार पिछले सालों से होती तो आज हमें ये दिन न देखने पड़ते।

यह भी पढ़ें : बड़ी वारतदातः घर में घुस कर तेजधार हथियारों से किए युवक पर वार, मरा समझ कर छोड़ गए हमलावार

पंजाब केसरी ने ऊपर तक पहुंचाई हमारी आवाज : सरपंच
गांव के सरपंच श्याम सिंह ने कहा कि वह इस कार्रवाई से अत्यंत संतुष्ट हैं। उन्होंने कहा कि आज तक ऐसा नहीं हुआ और हम जितना भी शोर मचाते रहते थे, हमारी आवाज कोई भी नहीं सुनता था, परंतु उत्तर भारत के प्रमुख अखबार पंजाब केसरी ने हमारी आवाज ऊपर तक पहुंचाई, जिसके बाद अब हम लोगों को हमारी जमीनें बच जाने की उम्मीद जग गई है और यह इलाका फिर से हरा-भरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरा इलाका और हम सब पंजाब केसरी का दिल से धन्यवाद करते हैं।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News