कोरोना को लेकर बिगड़े हालात, Oxygen सप्लाई को लेकर केंद्र व पंजाब आमने-सामने

4/22/2021 11:49:20 AM

जालंधर (धवन): पंजाब में कोरोना रोगियों की बढ़ रही संख्या को देखते हुए ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर केंद्र व पंजाब सरकार आमने-सामने आ गई हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र ने इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिख कर कहा कि राज्य को रोजाना कम से कम 120 एम.टी. ऑक्सीजन की सप्लाई की जानी चाहिए। साथ ही उन्होंने 2 महीनों से किए जा रहे आग्रह को देखते हुए दो पी.एस.ए. प्लांटों के लिए मंजूरी मांगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवद्र्धन को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि रोजाना आधार पर लिक्विड मैडीकल ऑक्सीजन (एल.एम.ओ.) की अबाधित सप्लाई की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पंजाब को चंडीगढ़ के 22 एम.टी. कोटे के अलावा 120 एम.टी. कोटा रोजाना दिया जाना चाहिए।राज्य में रोजाना &00 एम.टी. मैडीकल ऑक्सीजन को स्टोर करने की क्षमता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि रा’य में इस समय 105 से 110 एम.टी. मैडीकल ऑक्सीजन की खपत हो रही है जोकि अगले 2 सप्ताह में बढ़कर 150 से 170 एम.टी. तक पहुंचने की उम्मीद है। 

राज्य की मुख्य जरूरत को पूरा करने के लिए बाहर से मैडीकल ऑक्सीजन की सप्लाई आनी जरूरी है।ऑक्सीजन पर नियंत्रण रखने वाले ग्रुप ने 15 अप्रैल को पंजाब को 126 एम.टी. मैडीकल ऑक्सीजन की सप्लाई की थी परंतु 25 अप्रैल को सप्लाई घटा कर 82 एम.टी. कर दी गई। इससे राज्य में ऑक्सीजन की सप्लाई पर बुरा असर पड़ा है। उन्होंने कहा कि रा’य में कोई भी एल.एम.ओ. प्लांट नहीं लगा हुआ है। राज्य को लिक्विड ऑक्सीजन की मांग बद्दी, पानीपत, रुड़की व देहरादून स्थित प्लांटों से पूरी करनी पड़ रही है। 


Content Writer

Vatika

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static