बड़े फैसलों के लिए ''चन्नी'' को दिल्ली से लेनी होगी मंजूरी

9/24/2021 11:46:31 AM

लुधियाना (हितेश): चरणजीत चन्नी के मुख्यमंत्री बनने के बाद से यह अटकलें लगाई जा रही है कि उनका रिमोट कंट्रोल नवजोत सिद्धू के पास है। लेकिन अब आने वाले समय में चन्नी को बड़े फैसलों के लिए दिल्ली से मंजूरी लेनी होगी। यहां बताना उचित होगा कि चन्नी द्वारा कुर्सी पर बैठने के बाद जिस तरह तीनों पुलिस कमिश्नर, बड़े प्रशासनिक अधिकारियों के साथ इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट व मार्केट कमेटी के चेयरमैन को हटाया गया है उसे लेकर कुछ विधायकों ने नाराजगी जताई है।

यह मामला दिल्ली दरबार में भी पहुंच गया है जिसका हाईकमान ने सख्त नोटिस लिया है। अंदरुनी खींचतान बढ़ने से रोकने के लिए आगे से बड़े फैसले लेने से पहले सूचना देने की शर्त लगा दी गई है। बताया जा रहा है कि हाईकमान से हरी झंडी मिलने के बाद ही विनी महाजन की जगह अनिरुद्ध तिवारी को चीफ सेक्रेटरी लगाया गया है। इसी तरह हाईकमान से मंजूरी मिलने के इंतजार में वीरवार को नए एडवोकेट जनरल के नाम की औपचारिक तौर पर घोषणा नहीं की गई।

डी.जी.पी. बदलने के लिए स्टडी किया जा रहा है वेस्ट बंगाल का पैटर्न
चरणजीत चन्नी द्वारा विनी महाजन के बाद डीजीपी दिनकर गुप्ता बदलने को बदलने की चर्चा पूरी तरह गर्म है जिसके विकल्प के रूप में सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय व इकबाल प्रीत सहोता के नाम भी सामने आ चुके हैं। लेकिन इस संबंधी फैसला लेने की प्रक्रिया एक के बाद एक करके पेंडिंग हो रही है। इसके लिए यूपीएससी को पेनल भेजकर मंजूरी लेने की शर्त को वज़ह बताया जा रहा है जिसमें काफी समय लग सकता है। इसके अलावा फिर पंजाब सरकार की मर्जी का फैसला न होने की सुरत में दिक्कत आ सकती है। जिसके मद्देनजर वेस्ट बंगाल का पैटर्न स्टडी किया जा रहा है जहां डीजीपी को छुट्टी पर भेजकर एक्टिंग डीजीपी की नियुक्ति की गई थी।

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tania pathak

Recommended News

static