पंजाब कांग्रेस के सबसे व्यस्त प्रचारक बने चरणजीत चन्नी

punjabkesari.in Sunday, Feb 13, 2022 - 11:13 AM (IST)

चंडीगढ़ (रमनजीत): कांग्रेस हाईकमान की ओर से सी. एम. चेहरा बनाए जाने के बाद से मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के कंधों पर बोझ बढ़ गया है। खुद ही 2 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रहे चरणजीत सिंह चन्नी को अपनी दोनों सीटों पर चुनाव प्रचार के लिए समय निकालना पड़ रहा है। इतना ही नहीं, राज्य के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस के अन्य प्रत्याशियों के लिए भी चरणजीत सिंह चन्नी के प्रचार की डिमांड लगातार बढ़ रही है। मुख्यमंत्री अपने हलकों के अलावा हर रोज 4-5 अन्य नेताओं के विधानसभा क्षेत्रों में बड़ी रैलियां व जनसभाओं को संबोधित कर रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः प्रियंका गांधी का पंजाब दौरा, चुनावी अखाड़े में होंगी रू-ब-रू

पंजाब कांग्रेस के मौजूदा नेताओं में से मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ही एकमात्र ऐसा चेहरा कहे जा सकते है जोकि असलियत में 'स्वर प्रचारक' वाला रोल निभा रहे हैं। न सिर्फ अपनी दोनों सीटों श्री चमकौर साहिब और भदौड़ में चन्नी द्वारा चुनाव प्रचार किया जा रहा है, बल्कि पूर्व मुख्यमंत्री राजेंद्र कौर भट्टल से लेकर मौजूदा कैबिनेट मंत्री सुखजिद्र सिंह रंधावा समेत कई कांग्रेस प्रत्याशियों के चुनाव प्रचार में शामिल हो चुके हैं।

यह भी पढ़ेंः  पंजाब विधान सभा चुनावः BJP ने जारी किया मेनिफेस्टो

पंजाब के मुख्यमंत्री होने के नाते चरणजीत सिंह चन्नी को न सिर्फ पंजाब में कांग्रेस प्रत्याशियों के लिए प्रचार की जिम्मेदारी निभानी पड़ रही है, बल्कि चन्नी पंजाब कांग्रेस के उन नेताओं में भी शामिल हैं, जिन्हें कांग्रेस हाईकमान द्वारा उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में हो रहे विधानसभा चुनावों के लिए स्टार प्रचारक बनाया गया है।

यह भी पढ़ेंः  Election Commission ने विधानसभा चुनावों के लिए जारी की नई हिदायतें, पढ़ें

खास बात यह भी है कि पहले ऐसी ही चुनावी स्टार प्रचारकों की सूचियों में मौजूदा पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू का नाम शामिल रहता था, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ है बल्कि शिरोमणि अकाली दल के दिग्गज नेता बिक्रम सिंह मजीठिया द्वारा अपना हलका मजीव छोड़ कर सिद्धू के खिलाफ अमृतसर इंस्ट से चुनाव लड़ने की वजह से सिद्ध को सिर्फ अपने हलके में ही प्रचार का काम संभालना पड़ रहा है। इसी प्रकार चन्नी सरकार के अन्य कैबिनेट मंत्री भी अपने-अपने हलकों तक ही सीमित रह कर चुनाव प्रचार में लगे हैं।

यह भी पढ़ेंः  पंजाब विधानसभा चुनाव: नवजोत सिद्धू ने जारी किया ‘पंजाब मॉडल’

2 सीटों पर खुद के लिए प्रचार और अन्य प्रत्याशियों के लिए प्रचार की जिम्मेदारी दिए जाने संबंधी पूछने पर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि यह हर बड़े नेता के लिए होता ही है। मुख्यमंत्री चेहरे का ऐलान करते समय राहुल गांधी ने भी यही कहा था कि चन्नी लोगों की राय के बहुमत से चुने गए हैं। यही कारण है कि हर प्रत्याशी उन्हें अपने यहां चुनाव प्रचार के लिए बुला रहा है। लोगों की डिमांड स्पष्ट कर रही है कि मुख्यमंत्री के तौर पर 111 दिनों का चरणजीत सिंह चन्नी का कार्यकाल बिल्कुल वैसा रहा है, जैसा लोग चाहते हैं।

PunjabKesari

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News