चिकन से होता है कोरोना के भ्रम को तोड़ने के लिए लगाया लंगर,खाने के लिए टूट पड़ी भीड़

3/18/2020 12:44:54 PM

जालंधरः यहां कोरोना से पूरा विश्व दहशत में है। वहीं इसका असर कारोबार पर भी पड़ता जा रहा है। दूसरी तरफ लोगों में यह भ्रम है कि कोरोना वायरस नॉन वैज खाने से फैल रहा है,जिससे वह इसे खाने से परहेज कर रहे हैं। लोगों में भ्रम को दूर करने के लिए जालंधर चिकन नामक प्रतिष्ठान ने सोमवार को भगवान वाल्मीकि चौक से लेकर स्काईलार्क चौक के मार्ग में लगातार छह घंटे मुफ्त चिकन बांटा गया।

प्रतिष्ठान के संचालक रविंदर सिंह चड्ढा व पैनी चड्ढा ने कहा कि कोरोना वायरस के साथ जोड़ते हुए चिकन को लेकर सोशल मीडिया पर गलत प्रचार किया गया है। जबकि वास्तव में ऐसा कुछ नहीं है। अभी तक विश्व में ऐसा कोई भी तथ्य सामने नहीं आया है जो चिकन के सेवन से कोरोना को साबित करता हो। यही कारण है कि लोगों में फैली भ्रांतियां दूर करने के लिए मुफ्त चिकन बांटा गया है। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी इस तरह के प्रयास किए जाते रहेंगे।  लोगों में मुफ्त चिकन बांटने के लिए दो क्विंटल चिकन व 50 किलो चावल तैयार किए गए। प्रतिष्ठान के कारीगरों ने दो घंटे में इसे तैयार किया। इससे पूर्व चिकन को अच्छी तरह से साफ पानी के साथ साफ किया। वहीं, चावलों को पकाने के लिए एल.पी.जी. की भट्टी का इस्तेमाल किया। जिसे थर्मोकोल की कटोरियों में लोगों को मुफ्त बांटा गया। शहर में मुफ्त चिकन बंटने की खबर शहर में तेजी से फैली। चिकन के शौकीन दूर-दूर से मुफ्त का चिकन खाने पहुंचे। देखते ही देखते चिकन लेने के लिए लोगों की लंबी लंबी कतारें लग गई। छह घंटे तक लोगों को चिकन बांटा गया।

 

 


swetha

Related News