CM कैप्टन का सफाई सेवकों को लेकर बड़ा ऐलान

6/18/2021 10:38:04 AM

चंडीगढ़/जालन्धर (अश्वनी, धवन): पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र ने दलित कार्ड खेलते हुए एक महत्वपूर्ण फैसले के तहत कच्चे सफाई सेवकों को पक्का करने का ऐलान किया है। कांग्रेसी विधायक व पंजाब राज्य वेयर हाऊसिंग कार्पोरेशन के चेयरमैन डा. राजकुमार वेरका ने आज मुख्यमंत्री से मुलाकात की जिसमें सफाई सेवकों को पक्का करने का सैद्धांतिक फैसला लिया गया।

डा. वेरका ने कैप्टन अमरेन्द्र को सफाई सेवकों व अन्य के संबंध में लिखित पत्र सौंपते हुए कहा कि अन्य राजनीतिक पाॢटयां चुनावों को निकट देखते हुए सफाई कर्मचारियों व जनता के बीच में दुष्प्रचार कर रही हैं। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारी जिनमें स्वीपर व ठेके पर काम करने वाले कर्मचारी शामिल हैं, वे अपने मुद्दों को लेकर हड़ताल पर रहते हैं। पंजाब सरकार में सफाई कर्मचारियों के अनेकों पद खाली पड़े हैं। इसी तरह से ग्रुप-डी के पदों को समाप्त किया गया था जिन्हें दोबारा पुनर्जीवित किया जाए। उन्होंने कहा कि 85वें संशोधन को लागू किया जाना चाहिए ताकि अनुसूचित जातियों के कर्मचारियों व अधिकारियों को पदोन्नतियां देने का रास्ता साफ हो सके। अनुसूचित जाति वर्ग के विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप स्कीम को लेकर मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है इसलिए डिप्टी कमिश्नरों की अध्यक्षता में जिला स्तर पर शिकायत निवारण कमेटी का गठन किया जाए ताकि विद्यार्थियों की समस्याओं का समाधान हो सके।

उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों में ठेका प्रणाली की प्रथा को खत्म किया जाए तथा साथ ही अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों को औद्योगिक व आवासीय प्लाट देने के लिए कोटा तय किया जाए। अनुसूचित जाति वर्ग के गरीब लोगों के लिए घर बनाकर दिए जाएं तथा बोर्डों व कार्पोरेशनों में  दलित समुदाय को अधिक से अधिक प्रतिनिधित्व दिया जाए। वेरका ने यह भी कहा कि पंजाब कांग्रेस में घमासान को शांत करने का फार्मूला तैयार कर लिया गया है जिसका ऐलान कुछ दिनों में कर दिया जाएगा। विधायक फतेहजंग बाजवा ने भी उम्मीद जताई कि जल्द घमासान खत्म होगा और पार्टी एकजुट होकर 2022 के चुनाव मैदान में उतरेगी।  कैप्टन अमरेन्द्र ने डा. वेरका से कहा कि उनकी मांगों को सरकार द्वारा पूरा किया जाएगा तथा सबसे पहले कच्चे सफाई सेवकों को पक्का किया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Recommended News

static