लाखों रूपए लगाकर ससुराल भेजी बेटी, लेकिन इस हालत में मिली उसकी लाश

4/14/2021 4:51:16 PM

भवानीगढ़ (कांसल): स्थानीय शहर के नजदीकी गांव रामपुरा निवासी अमन सिंह पुत्र मन्नजूरा सिंह ने आज प्रैस कॉन्फ्रेंस के द्वारा अपनी 25 वर्षीय बेटी नीलम को उसके ससुराल की ओर से कथित तौर पर दहेज के लिए तंग-परेशान करने और कोई जहरीली चीज देकर मौत के घाट उतारने के आरोप लगाते हुए सरकार से इंसाफ की गुहार लगाई कि लड़की के ससुराल के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए।

पत्रकारों को जानकारी देते हुए मृतक लड़की नीलम के पिता अमन सिंह ने बताया कि नीलम का विवाह 17 मार्च 2019 को पूरे हिंदु रीति-रिवाजों के अनुसार रविन्द्र सिंह पुत्र ओमवीर निवासी साहनेवाल से किया था और लड़की के विवाह पर सवा 3 लाख रुपए के करीब खर्च करने के साथ-साथ दहेज का सारा सामान, सोने के गहने और डेढ़ लाख रुपए की नकदी कथित तौर पर ससुराल को लड़की के निजी प्रयोग के लिए दिए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि विवाह से कुछ समय बाद ही लड़की के ससुराल ने उनकी लड़की को और दहेज, 2 लाख रुपए की नकदी और एक मोटरसाइकिल की मांग करते हुए तंग-परेशान करना शुरू कर दिया और मांग पूरी न होने पर उसकी लड़की को घर से बाहर निकाल दिया।

PunjabKesari

इसके बाद पंचायत में किए समझौते के अनुसार उसने अपनी लड़की को फिर ससुराल के साथ भेज दिया। उन्होंने बताया कि गत 7 अप्रैल को उसे ओमवीर का फोन आया कि उनकी बेटी का अपनी सास के साथ झगड़ा हो गया है और वह कल साहनेवाल वहां आकर उनके साथ बातचीत करे। अगले ही दिन 8 अप्रैल को फिर लड़की की ननद का फोन आया कि उसकी मौत हो गई है। जब उन्होंने जाकर देखा तो नीलम के शरीर पर चोटों के निशान थे और उसके मुंह से झाग निकल रही थी। उन्होंने आरोप लगाया कि दहेज के लालच में नीलम के ससुराल ने कथित तौर पर लड़की से पहले मारपीट की और फिर उसे कोई जहरीली दवा देकर मार दिया।

PunjabKesari

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि साहनेवाल की पुलिस की ओर से उनकी लड़की की मौत के लिए कथित तौर पर उसका ससुराल जिम्मेदार है। उन्होंने सरकार और मानवीय अधिकार कमीशन से मांग की है कि उसकी बेटी के ससुराल के विरुद्ध सख्त एक्शन लिया जाए और उसकी मौत के लिए जिम्मेदार सभी सदस्यों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए।


Content Writer

Tania pathak

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static