दीप सिद्धू और इकबाल सिंह केवल मोहरे...लाल किला हिंसा का मास्टरमाइंड कोई और...?

punjabkesari.in Saturday, Feb 13, 2021 - 05:38 PM (IST)

नई दिल्ली(नवोदय टाइम्स): ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा  में भीड़ को उकसाने वाले मुख्य आरोपियों में शामिल दीप सिद्धू और इकबाल सिंह से जांच अधिकारियों ने 15 सवालों की लिस्ट बनाकर क्राइम ब्रांच के ऑफिस में शुक्रवार को भी करीब चार घंटे तक पूछताछ की। जिसमें दोनों आरोपियों का एक ही जवाब था कि उनका कोई बुरा इरादा नहीं था और जैसे सभी वहां जा रहे थे, तो वह भी चले गए थे। वहीं, दीप सिद्धू के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने कई डिजिटल सबूत जमा किए हैं। पुलिस दीप सिद्धू के दोनों मोबाइल फोन की कॉल डिटेल रिकॉर्ड और इनकी लोकेशन के आधार पर पूछताछ कर उसके पूरे नेटवर्क को खंगाल रही है। एसआईटी ने उसके दोनों मोबाइल फोन की 26 और 27 जनवरी की लोकेशन हासिल कर ली है। शुरूआती तफ्तीश में ये बात साफ हुई है कि हिंसा के मास्टरमाइंड कोई और ही हैं। दीप सिद्दू और इकबाल सिंह तो मोहरा थे।

PunjabKesari

दो मोबाइल नंबर इस्तेमाल कर रहा था दीप
 पुलिस सूत्रों के मुताबिक, दीप सिद्धू और इकबाल सिंह द्वारा बनाए गए वीडियो और मोबाइल की लोकेशन के माध्यम से कई अहम सबूत एकत्र किए हैं। दरअसल, 26 और 27 जनवरी तक दीप दो मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल कर रहा था। पुलिस उसके फोन की 26 जनवरी की सीडीआर के आधार पर हिंसा में उसकी मौजूदगी साबित करने में जुटी है। इसके अलावा नेटफ्लिक्स के रिचार्ज से पुलिस को पहला सुराग हाथ लगा था। 27 जनवरी को इस नंबर की लोकेशन पंजाब के पटियाला में मिली थी। इसके बाद यह नंबर बंद हो गया था। क्राइम ब्रांच की टेक्निकल टीम ने दीप सिद्दू के फोन की सीडीआर खंगाली थी। टेक्निकल आधार पर हिंसा वाले दिन उसके रूट और मौजूदगी का पूरा रिकॉर्ड खंगाला। जिसके आधार पर हिंसा वाले दिन उसके अलग-अलग जगह मौजूद होने का पता चला था। 

PunjabKesari

कहां-कहां थी मोबाइल की लोकेशन...
दीप सिद्धू ने झंडा फहराते समय लाल किला के ऊपर मौजूद होने की बात कबूल की है। जबकि पहले से ही इस बात के वीडियो मौजूद हैं। इस पर दीप का कहना है कि सोशल मीडिया पर फैन फॉलोइंग बढ़ाने की वजह से  यह गलती हुई। दीप सिद्धू ने कहा कि उसे नहीं पता था कि बात इतनी बिगड़ जाएगी। वह लाल किला पर लोगों का उग्र और हिंसक रूप देखकर बहुत घबरा गया था। हिंसा बढ़ती देख वह लाल किला से चला गया, क्योंकि लोग उसकी बात भी नहीं मान रहे थे। अभी तक की जांच में दीप की मोबाइल लोकेशन राजघाट से लालकिले के बीच पाई गई है। दूसरी लाकेशन कुंडली सिंघू बॉर्डर और तीसरी हरियाणा के शाहबाद-कुरुक्षेत्र इलाके की मिली फिर उसका फोन बंद हो गया था।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News