केन्द्र से यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की फाइनल परीक्षाएं रद्द कराए जाने की मांग

7/9/2020 8:26:44 PM

चंडीगढ़ः पंजाब में कोविड संकट के कारण फाइनल ईयर की परीक्षाओं के लिए स्थिति अनुकूल न होने का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने कहा है कि वह छात्रों के हित तथा सुरक्षा के लिए यूनिवर्सिटियों और कॉलेजों की परीक्षाओं को रद्द करवाने को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से आग्रह करेंगे। कैप्टन ने आज यहां कहा कि वह यूनिवर्सिटी तथा कॉलेज की ओर से सितम्बर तक लाजि़मी तौर पर अंतिम परीक्षाएं लिए जाने सम्बन्धी 6 जुलाई के गृह मंत्रालय के आदेशों को रद्द करने और यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (यू.जी.सी) के दिशा-निर्देशों को वापिस लिए जाने की मांग करेंगे।

पंजाब में कोविड के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और सितम्बर में इसके शिखर तक पहुंचने का अनुमान हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे हालातों में वह छात्रों के जीवन को जोखिम में डालने के लिए तैयार नहीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम ऐसे नाजुक हालात में छात्रों को परीक्षा देने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं । यू.जी.सी. की ओर से सुझाए गए विकल्प के अनुसार इम्तिहान ऑनलाइन नहीं करवाए जा सकते, क्योंकि पंजाब में विशेषत: ग्रामीण क्षेत्रों और पिछड़े वर्गों में ज्यादातर विद्यार्थियों के पास किफायती और निर्विघ्न इन्टरनेट क्नैकटिविटी की पहुंच नहीं है।

उन्होंने इस मामले पर विचार करने के लिए शिक्षा विभाग की ओर से बुलाई गई बैठक में जोर देते हुए कहा कि मौजूदा स्थिति में इम्तिहान करवाना संभव नहीं। तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने मुख्यमंत्री के विचार पर सहमति जताई।


Mohit

Related News