बेअदबी मामले व नशे पर नकेल कसने के लिए उपमुख्यमंत्री रंधावा ने दिए ये निर्देश

punjabkesari.in Friday, Nov 12, 2021 - 04:13 PM (IST)

बठिंडा (विजय): पंजाब के गृह मंत्री व उप मुख्यमंत्री सुखजिन्द्र सिंह रंधावा अचानक बठिंडा पहुंचे जिनके साथ डी.जी.पी. पंजाब इकबाल प्रीत सिंह सहोता व 8 जिलों के आई.जी., डी.आई.जी. व एस.एस.पी. साथ थे। पुलिस उच्चाधिकारियों की बैठक में रंधावा ने निर्देश जारी किए कि पंजाब में अमन शांति कायम की जाए, कानून व्यवस्था को बिगडऩे न दिया जाए, अपराधिक घटनाओं को रोकने पर जोर दिया जाए। रंधावा ने कहा कि अगर पुलिस की और जरूरत पड़ेगी तो मुहैया करवाई जाएगी।

मीडिया से बातचीत करते सुखजिन्द्र सिंह रंधावा ने स्पष्ट किया कि बेअदबी मामले के आरोपियों के जेल जाने का समय आ चुका है इसमें किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा, बेशक वह किसी पार्टी का नेता या अन्य हो। उन्होंने स्पष्ट किया कि आरोपियों को छोड़ा नहीं जाएगा जबकि बेगुनाह को हाथ नहीं लगाया जाएगा। इससे पहले इस मामले में पुलिस व एस.आई.टी को सहयोग नहीं मिला जिस कारण जांच अधूरी रही। नई बनी एस.आई.टी. ने लगभग अपनी जांच पूरी कर ली है अब आरोपियों के जेल जाने का समय आ गया है।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस पर भड़के सुखबीर बादल ने कहा, 'क्यों नहीं करवाते गिरफ्तार'

रंधावा ने कहा कि दूसरे राज्यों की सभी सीमाएं सील की जाएगी ओर नशा तस्करों पर नकेल कसी जाएगी। इस संबंधी डी.जी.पी. पंजाब सहित सभी उच्चाधिकारियों को निर्देश जारी किए जा चुके है और बठिंडा में शुक्रवार को हुई बैठक का असली मकसद नशा मुक्ति था। उन्होंने कहा कि ड्रोन माध्यम से नशे की तस्करी को रोकने के लिए पंजाब पुलिस ने तीन घेरे बनाए है।

पंजाब कैबिनेट में अहम फैसले लिए गए थे, का पूरे पंजाब में स्वागत हो रहा है। रंधावा ने कहा कि केन्द्र ने सोची समझी साजिश के तहत पंजाब में 50 किलोमीटर के क्षेत्र तक बी.एस.एफ. लगा दी जो अंति निंदनीय है। ऐसे में आधा पंजाब बी.एस.एफ. के घेरे में आ जाएगा जिससे आम लोगों को भी परेशानी होगी। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस में 209 लोगों की भर्ती की गई जिनमें पंजाब के केवल 17 ही है। केन्द्र को पंजाब के लोगों पर भरोसा नहीं इसीलिए उन्हें भर्ती से दूर रखा गया। रंधावा ने कहा कैप्टन को कांग्रेस ने बाहर नहीं निकाला वह स्वयं गए अगर वह पुन: आते है तो उनका स्वागत होगा।

यह भी पढ़ें :हरपाल चीमा ने विधान सभा सैशन को ले कर घेरी पंजाब सरकार

पंजाब पुलिस के महानिर्देशक इकबाल प्रीत सिंह सहोता ने इस अवसर पर कहा कि पंजाब सरकार के निर्देश पर प्रदेश में अमन कानून बहाल रखा जाएगा और नशा तस्करी किसी कीमत पर सहन नहीं की जाएगी। इस अवसर पर उनके साथ आई.जी. जसकरण सिंह, आई.जी. फिरोजपुर, डी.आई.जी., 8 जिलो के एस.एस.पी., वित्त मंत्री की पत्नी वीनू बादल के अलावा अन्य नेता भी मौजूद थे।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Subhash Kapoor

Related News

Recommended News