ये कैसा डॉक्टर्स डे: केक काटते रहे डॉक्टर्स, इलाज के लिए बुजुर्ग तड़पता रहा फर्श पर

punjabkesari.in Friday, Jul 02, 2021 - 12:30 PM (IST)

लुधियाना (राज): सिविल अस्पताल में वीरवार को डाक्टरों का प्रोटेस्ट-डे रहा। छठी पे कमीशन के विरोध में डॉक्टरों ने हड़ताल जारी रखी। हड़ताल के दौरान भी एस.एम.ओ. सहित सभी डाक्टर्स ऑफिस में बैठ कर केक काट डॉक्टर्स-डे सेलिब्रेशन करते रहे। वहीं, दूसरी तरफ इलाज ना मिलने से ओ.पी.डी. के बाहर फर्श पर एक बीमार बुजुर्ग पड़ा तड़पता रहा। बुजुर्ग कई घंटों से तड़प रहा था। मगर उसकी सुध लेने वाला वहां कोई नहीं था। अस्पताल के कर्मचारी उस बुजुर्ग के पास से निकलते रहे। मगर किसी ने उसे उठाकर एमरजैंसी तक पहुंचाने की जहमत नहीं उठाई। 

जब 'पंजाब केसरी' की टीम को इसका पता चला तो टीम ने एमरजैंसी में तैनात कर्मचारियों को बताया। मगर फिर भी किसी के कान पर जूं तक नहीं सिरकी। इसके बाद टीम ने संवेदना एन.जी.ओ. से संपर्क किया। जिसके बाद संवेदना के कर्मचारी स्ट्रेचर लेकर मौके पर पहुंच गए और उन्होने बुजुर्ग को उठा कर स्ट्रेचर पर डाला और एमरजैंस तक पहुंचाया।
जब इस बारे में एम.सी.एच. के बाहर प्रदर्शन कर रहे डॉक्टर्स से सवाल किया गया तो उनमें से एक डॉक्टर साहब मीडिया पर ही भडक़ गए और बहस करने लगे।

दरअसल, पे कमीशन की रिपोर्ट पर डॉक्टरों की नाराजगी है। लेकिन, डॉक्टरों की नाराजगी मरीजों पर भारी पड़ रही है। सिविल अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा एक सप्ताह में तीसरी दफा हड़ताल की गई है। वीरवार को भी डॉक्टर हड़ताल पर रहे। ओ.पी.डी. पूरी तरह बंद थी। जिस कारण इलाज के लिए आने वाले लोग वापिस जाते रहे।

गर्भवती महिलाएं भी होती रही परेशान
हड़ताल दौरान एम.सी.एच. सैटर की भी ओ.पी.डी. बंद रही। चेकअप करवाने के लिए आने वाली गर्भवती महिलाओं का काफी परेशानी हुई। गर्भवती महिलाओं का कहना है कि डॉक्टर बिना कुछ बताए हड़ताल कर देते है। वह इतनी दूर से इलाज के लिए आते है मगर अस्पताल आकर पता चलता है कि डाक्टर्स नहीं है, वह हड़ताल पर है। ऐसे गरीब मरीज कहां इलाज करवाने जाएंगे।

पंजाब और अपने शहर की अन्य खबरें पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tania pathak

Related News

Recommended News