ट्रक में ड्राइवर की लाश मिलने से मचा हड़कंप, रेंग रहे थे कीड़े, दुर्गध आने पर खुली पोल

4/7/2021 12:26:45 PM

लुधियाना: लुधियाना-जालंधर नेशनल हाइवे पर एल्डिको के पास सोमवार को एक ड्राइवर की क्षत-विक्षत अवस्‍था में लाश उसी के ट्रक में मिलने से सनसनी फैल गई। आशंका व्‍यक्‍त की जा रही है कि उसकी हत्‍या गला घोंट कर की गई है लेकिन अभी तक हत्‍या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। वहीं मृतक के परिजनों का कहना है कि लूटपाट के लिए हत्‍या को अंजाम दिया गया है। पुलिस का कहना है‍ सभी पहलुओं से मामले की छानबीन की जा रही है। जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती कुछ भी कहना जल्‍दबाजी होगी।

बहरहाल पुलिस ने शव पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक की पहचान नवांशहर के बलाचौर के गांव झागड़ियां के 32 वर्षीय हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्‍पी के रूप में हुई है जोकि पिछले 3 दिनों से लापता था। घटना का पता आज बाद दोपहर करीब 3 बजे चला जब बाइक सवार 2 युवक सर्विस लेन के किनारे खड़े ट्रक के पास से निकले तो उन्‍हें ट्रक से दुर्गंध आई। उन्‍होंने यह बात घटनास्‍थल के नजदीक ढाबा चलाने वाली महिला को बताई जिसने तुरंत पुलिस को सूचित किया। डी.सी.पी. डिटैक्टिव सिमरतपाल सिंह ढी़डसा, ए.डी.सी.पी. हैडक्‍वार्टर अश्‍वनी गोत्‍याल, ए.सी.पी. नॉर्थ गुरबिंदर सिंह, थाना सलेम टाबरी प्रभारी इंस्‍पैक्‍टर गोपाल कृष्‍ण व एफ.एस.एल. विभाग के इंस्‍पैक्‍टर जतिंदर सिंह पुलिस पार्टी सहित मौके पर पहुंचे।

पुलिस ने जब ट्रक चैक किया तो हैप्‍पी की गली-सड़ी लाश कंबल से लिपटी ड्राइविंग सीट के पीछे बने तख्‍त पर पड़ी थी। उस पर मक्खियां भिनभिना रहीं और कीड़े रेंग रहे थे। ट्रक के फुट रैस्‍ट पर पुलिस को जूतों के निशान भी मिले हैं। पुलिस ने ट्रक पर लिखे नंबर के आधार पर हैप्‍पी के परिजनों को फोन किया तो उसकी पत्‍नी सबर्जीत कौर उर्फ नीशा, बहन सुखदीप कौर, भाई हरनीत सिंह उर्फ लाडी, सर्बजीत की सहेली बलजीत कौर घटनास्‍थल पर पहुंची। परिजनों ने लाश के पास से मिले आधार कार्ड, उसकी दाईं बाजू पर पंजाबी में गुदे ‘जट्ट’ व कपड़ों से उसकी पहचान हरप्रीत के रूप में की।

घटनास्‍थल का मुआयाना करने के बाद अधिकारियों ने बताया कि गले पर निशान व मृतक की बाहर निकली हुई जीभ से लग रहा है गला घोंटकर हत्‍या को अंजाम दिया गया है। पोस्‍टमार्टम के बाद काफी हद तक सब कुछ साफ हो जाएगा। लाश 72 घंटे से अधिक पुरानी है। मृतक की पत्‍नी नीशा की शिकायत पर हत्‍या का केस दर्ज किया जा रहा है।

लापता पति की तलाश में 3 दिन से मारी-मारी फिर रही थी नीशा
नीशा ने बताया कि वह पिछले 3 दिनों से अपने पति की तलाश में लुधियाना में मारी-मारी फिर रही थी लेकिन किसी पुलिस अधिकारी ने उसकी सुनवाई नहीं की। उसका पति पिछले महीने 26 मार्च को ट्रक लेकर घर से गया था। हर रोज पति के साथ उसकी वीडियो या वॉइस काल पर बात होती थी। आखिरी बार उसकी 3 अप्रैल को बात हुई थी। तब उसके पति ने बताया था कि वह फरीदाबाद से माल लेकर आया है, जो उसने लुधियाना उतारना है और वह इस समय मंजी साहिब के पास है। उसके साथ जो दूसरा ड्राइवर था उसे उसने गोबिंदगढ़ उतार दिया है। जल्‍द ही वह घर पहुंच जाएगा।

कुछ देर बाद शाम करीब 6.30 बजे उसने पति को दोबारा फोन किया तो फोन किसी और ने उठाया। उसने कहा कि वह समराला चौक के पास है और हैप्‍पी सो गया है। उसने फोन पर कुछ अन्‍य लोगों के हंसने की आवाजें भी सुनी। इसके बाद उसके पति का फोन बंद हो गया। अगले दिन वह लुधियाना और अपनी ननद व उसकी सहेली से मिली। इसके बाद वह कई बार फोकल प्‍वाइंट थाने शिकायत दर्ज करवाने के लिए गई लेकिन उसकी दर्ख्वास्‍त तक नहीं लिखी गई।

बलजीत ने बताया कि इसके बाद उन्‍होंने अपने स्‍तर पर हैप्‍पी को खोजना शुरू किया। उन्‍होंने उस फैक्‍टरी का पता लगा लिया जिसमें हैप्‍पी ने डेढ़ टन माल उतारा था। पहले तो फैक्‍टरी संचालक उन्‍हें गुमराह करते रहे, लेकिन जब उन्‍होंने मीडिया में जाने की धमकी तो उन्‍होंने बताया कि इस नंबर का ट्रक माल उतार कर गया था। उन्‍होंने फैक्‍टरी का रजिस्‍टर चेक किया तो उसमें हैप्‍पी के ट्रक की कोई इंट्री नहीं थी।

तो क्‍या हत्‍यारे लाश ट्रक में लेकर घूमते रहे!
ढाबा चलाने वाली महिला ने बताया कि सुबह जब उसने ढाबा खोला तो वहां ट्रक खड़ा था लेकिन रविवार शाम को जब वह ढाबा बंद करके गई थी तो वह जगह खाली थी। हो सकता है कि रात के वक्‍त या उसका ढाबा खुलने से पहले कोई ट्रक खड़ा करके चला गया हो। उसके पास चाय पीने बाइक पर आए 2 युवकों ने घटना के बारे में बताया तो उसने सलेम टाबरी में तैनात मुलाजिम कुलदीप शर्मा को फोन पर इसकी जानकारी दी। पुलिस इस बात को लेकर पशोपेश में है कि अगर महिला की बात सच है तो क्‍या हत्‍यारे गली-सड़ी लाश ट्रक में लेकर इधर-उधर घूमते रहे, जबकि ट्रक की चाबी लाश के पास से सीट पर मिली।

मृतक का मोबाइल व नकदी गायब
नीशा का कहना है कि उसके पति का मोबाइल व करीब 40 से 45 हजार रुपए की नकदी गायब है, जो उसके पति को ट्रक का भाड़ा मिला था। उसने आशंका व्‍यक्‍त की कि लूटपाट के लिए उसके पति की हत्‍या की गई है। पुलिस का कहना है कि मृतक का फोन रिकार्ड व उसकी आखरी लोकेशन के अतिरिक्‍त स्‍मार्ट सिटी के कैमरे चैक करवाए जा रहे हैं। कई लोगों को पूछताछ के लिए भी बुलाया गया है।

मृतक की बहन सुखदीप ने बताया कि उसके भाई की नीशा से 2013 में लव मैरिज हुई थी। उसके भाई की पहली, जबकि नीशा की यह दूसरी शादी थी। उसके भाई का किसी से कोई दुश्‍मनी नहीं है और न ही किसी से पैसे का कोई लेन-देन है। हरनीत ने बताया कि जिस ट्रक में उसके भाई की लाश मिली है वह मृतक का है जो उसने कुछ दिन पहले ही खरीदा है। जबकि वह और उसका पिता भी ट्रक चलाते हैं।


Content Writer

Tania pathak

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static