Study Visa के लिए नकली डिग्रियों का खेल

1/2/2021 12:36:20 PM

जालंधर: यू.के. में स्टडी वीजा पर बच्चों को भेजने में जाली फंड का खेल इन दिनों खूब चल रहा है। पंजाब केसरी की ओर से पहले भी इस मसले पर बड़ा खुलासा किया जा चुका है। इस बीच अब एक कहानी सामने आ रही है जिसमें डिग्री तक फेक होने की बात सामने आई है। जानकारी के अऩुसार बच्चों को विदेश भेजने के नाम पर बाकायदा फेक डिग्री का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसमें पंजाब के कुछ कथित एजैंट सक्रिय हैं।  

फेक डिग्री को लेकर अब एक बड़ा खुलासा हुआ है जिसमें बाकायदा ब्रिटिश हाई कमीशन को शिकायत हुई है। शिकायत में जालंधर के कुछ लोगों के शामिल होने की बात सामने आई है। गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से यू.के. ने भारतीय छात्रों को खुलकर स्टुडैंट वीजा दिए हैं। ऐसे में कुछ एजैंटो ने मोटा पैसे छापने के चक्कर में स्टूडैंटस के एफ.डी. के रूप में जाली फंड भी लगाए हैं। 

ब्रिटिश हाई कमीशन को लिखी शिकायत में मांग की गई है कि एजैंट के दफ्तर के पते से अप्लाई किए गए स्टडी वीजा के सभी डाक्यूमैंट्स की जांच की जाए। शिकायतकर्ता ने दावा किया है कि जांच के बाद 70 प्रतिशत डाक्यूमैंट्स अवशय ही जाली पाए जाएंगे। ऐसे में एजैंट ने बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है। इसी मामले में कुछ दिन पहले एजैंट के दफ्तर के बाहर कई लोग उसके विरोध में एकत्रित भी हुए थे।

इस मामले में ब्रिटिश हाई कमीशन भी गंभीर दिख रहा है तथा पता चला है कि आने वाले दिनों में इससे जुड़े और बड़े खुलासे हो सकते हैं। यह भी कहा जा रहा है कि स्टडी वीजा की आड़ में चल रहे इस फेक डिग्री के खेल का भी भंडाफोड़ हो सकता है जिसमें कई चेहरे सामने आ सकते हैं।


Sunita sarangal

Recommended News