कैप्टन किसान हितैषी है तो कुर्सी का मोह छोड़कर तुरंत दें इस्तीफा: हरसिमरत कौर बादल

12/4/2020 12:21:12 PM

मानसा(जस्सल): कृषि बिलों का लागू करने से पहले मुख्यमंत्रियों की दिल्ली में बुलाई गई मीटिंग में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने हस्ताक्षर करके हां भरी थी और अब किसानों के हमदर्द अब किसानों के हमदर्द होने का ड्रामा किया जा रहा है। जिला मानसा के गांव खियाली चहलांवाली के दिल्ली में जान गंवाने वाले धन्ना सिंह के घर हमदर्दी प्रगटाने पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के चुनौती दी कि अगर कैप्टन को किसानों की प्रवाह है तो वह अकाली दल की तरह कुर्सी छोड़कर इस्तीफा दे।

उन्होंने कहा कि बड़ी शर्म वाली बात है कि कैप्टन सरकार से किसानों की बात सुनने के लिए समय नही है। पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल द्वार पदमश्री विभूषण सम्मान वापिस करने पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि अकाली दल किसानों की हालत को लेकर फिकरमंद है और इस संघर्ष में किसानों से साथ चट्टान की तरह खड़ा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किसानों की कोई बात नही सुनने के लिए तैयार नही जिस कारण किसानों की सरकार से बातचीत बार बार असफल हो रही है। इस मौके विधायक दिलराज सिंह भूंदड़, नाजर सिंह मानशाहीयां, पूर्व ससंदीय सचिव जगदीप सिंह नक्कई, जिला देहाती अध्यक्ष गुरमेल सिंह फफड़े, सुखदेव सिंह अहमदपुर, प्रेम सिक्ख चहलां वाली, डा. सुखवीर सिंह, मुख्तियार सिंह, लक्ष्मण सिंह आदि हाजिर थे।


Vatika

Recommended News