बहबल कलां मामले में इस तारीख तक सुनवाई मुल्तवी

punjabkesari.in Wednesday, Apr 27, 2022 - 09:40 AM (IST)

फरीदकोट (जगदीश): 12 अक्तूबर, 2015 को घटे बेअदबी कांड का इंसाफ मांग रही शांतिमय धरने पर बैठी संगत पर किए गए पुलिस अत्याचार दौरान बहबल कलां गोलीकांड में मुजरिम के तौर पर नामजद किए गए पंजाब के पूर्व डी.जी.पी. सुमेध सैनी, निलंबित आई.जी. परमराज सिंह उमरानंगल, सुहेल सिंह बराड़ अदालत में पेश नहीं हुए।

यह भी पढ़ें : चंडीगढ़ की बुड़ैल जेल के पास मिले टिफिन बम मामले में अहम खुलासा

इनको एक दिन के लिए हाजिरी से छूट दी गई जबकि थाना बाजाखाना के पूर्व एस.एच.ओ. अमरजीत सिंह कुलार, पंकज बांसल, मोगा के पूर्व एस.एस.पी. चरणजीत शर्मा, एस.पी. बिक्रमजीत सिंह अदालत में उपस्थित थे। अदालत ने सुनवाई के बाद इसकी अगली सुनवाई 9 मई तक मुल्तवी कर दी।

यह भी पढ़ें : बाप ने 9 साल के बेटे संग नहर में लगाई छलांग, वजह कर देगी हैरान

यहां के एडीशनल सेशन जज हरबंस सिंह लेखी की अदालत में बहबल गोलीकांड में आज चार्जशीट पर बहस होनी थी परंतु पूर्व डी.जी.पी. सुमेध सैनी, निलंबन अधीन चल रहे आई.जी. उमरानंगल, सुहेल सिंह बराड़ आज निजी तौर पर अदालत में पेश नहीं हुए और वकील ने अदालत को बताया कि इस मामले की सुनवाई मुल्तवी की जाए क्योंकि हाईकोर्ट में बहबल कलां गोलीकांड में मुजरिमों के खिलाफ जो सिट की तरफ से चालान पेश किया गया है, उसे रद्द कराने के लिए पुलिस अधिकारियों ने हाईकोर्ट में पटीशन दायर की हुई है।

यह भी पढ़ें : भारत-पाक सरहद पर ड्रोन की हलचल, BSF ने फायरिंग कर भगाया

इस केस में पूर्व डी.जी.पी. सुमेध सैनी, आई.जी. परमराज सिंह उमरानंगल, मोगा के पूर्व एस.एस.पी. चरणजीत शर्मा, एस.पी. बिक्रमजीत सिंह और थाना बाजाखाना के पूर्व एस.एच.ओ. अमरजीत सिंह कुलार जो मुजरिम के तौर पर नामजद हैं, ने अपनी पटीशन में कहा कि जांच टीम ने हमलावरों पर कार्रवाई करने की जगह पुलिस अधिकारियों को ही दोषी के तौर पर नामजद कर दिया है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News