गौशालाओं के सामने पैदा हुआ भारी संकट, गौ सेवा मिशन ने की प्रशासन व सरकार से मांग

punjabkesari.in Sunday, Mar 06, 2022 - 04:52 PM (IST)

गढ़शंकर (शौरी): गौ सेवा मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी कृष्णानंद जी महाराज की अध्यक्षता में आज बृंदावन कुटिया बीनेवाल में हुई बैठक के दौरान निर्णय लिया गया कि यदि कारखानों और मिलों में सूखे चारे का ईंधन के रूप में उपयोग बंद नहीं किया गया तो संघर्ष शुरू किया जाएगा. क्योंकि फैक्ट्रियों द्वारा सूखा चारा जलाने से सभी पशुपालकों और गौशालाओं के सामने संकट खड़ा हो गया है। 

यह भी पढ़ें : BSF Firing Case : मरने वाले जवानों के नाम आए सामने, एक की हालत गंभीर

इस मीटिंग में संत बाबा सुद्ध सिंह माछीवाड़ा, बाबा दविन्दर कौड़ा बंगा, बाबा दया सिंह बाबा बकाला, कीमती भक्त पूर्व चेयरमैन गौ सेवा कमीशन पंजाब, सतीश शर्मा राजपुरा, सन्दीप कुमार गोंदपुर, चेन सिंह पहाड़िया, बिक्रम महन्दवानी, केशव महन्दवानी, जगीरी राम बीनेवाल सहित अन्य भी उपस्थित थे। स्वामी कृष्णानंद जी ने बताया कि पंजाब की 500 से अधिक गौशालाओं में ज्यादातर अपंग, लाचार, दुर्घटनाग्रस्त, बुच्चड़खानों के गिरोह से छुडवाए गए गऊवंश की सेवा होती है जोकि सूखे पठ्यों की कमी कारण प्रभावित हो रही है। 

उन्होंने ने प्रशासन और सरकार से मांग की कि कारखानों में सूखा ईंधन जलाने से इसकी शुरूआत तेजी से बढ़ रही है उस पर रोक लगाई जाए और यह निश्चित रूप से किया जाए कि कारखाने में कोयला या फिर अन्य ईंधन का ही प्रयोग किया जाए। 
इस अवसर पर विभिन्न प्रवक्ताओं ने कहा कि आगामी सीजन के लिए कारखाना मालिकों द्वारा गेहूं के डंठल की खरीद-बिक्री भी तेजी से शुरू हो गई है जिससे निकट भविष्य में सूखे डंठलों की और कमी होने की आशंका जताई जा रही है।

यह भी पढ़ें : पंजाब के नौजवान ने हासिल किया बड़ा मुकाम, हौसला ऐसा कि सुन आप भी करेंगे तारीफ

उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने इसे गंभीरता से नहीं लिया तो पूरे पंजाब के गौ भक्तों, गौ सेवकों, गौ सेवा संगठनों और पशु पालकों के सामने आंदोलन ही एकमात्र विकल्प होगा। ऐसी स्थिति में आंदोलन के लिए सरकार जिम्मेदार होगी।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News