मोती महल के सामने पहुंचे बेरोजगार अध्यापकों पर बरसे डंडे, कई घायल

7/15/2021 10:04:37 AM

पटियाला (मनदीप सिंह जोसन): रोजगार की खातिर मोती महल को घेरने गए बेरोजगार ई.टी.टी. अध्यापकों पर आज फिर पुलिस के डंडे बरसे। पुलिस के डंडे तो टूट गए लेकिन बेरोजगारों ने हार नहीं मानी और लाठीचार्ज के बाद मोती महल के समक्ष धरना लगाकर नारेबाजी की। लाठीचार्ज में 24 से अधिक अध्यापक गंभीर घायल हो गए।

अध्यापक नेताओं ने बताया कि बेरोजगार ई.टी.टी. टैट पास अध्यापक जहां संगरूर में डी.सी. कार्यालय के बाहर लगातार 6 महीनों से धरना दे रहे हैं वहीं दूसरी ओर 116 दिनों से पटियाला टावर के ऊपर सुरेंद्र पाल सिंह गुरदासपुर सेहत बिगडऩे के बावजूद डटा हुआ है। 7 जुलाई को हुई पैनल मीटिंग में यह भरोसा दिया गया था कि बेरोजगार अध्यापकों की मांगें 14 जुलाई को होने वाली कैबिनेट मीटिंग में मान ली जाएंगी लेकिन आज कोई भी कैबिनेट मीटिंग नहीं हुई, जिसके रोष स्वरूप बेरोजगार अध्यापक लीला भवन में एकत्र हुए और वहां से रोष मार्च शुरू किया गया। 

पटियाला प्रशासन के अधिकारी बेरोजगार अध्यापकों को रोकने के लिए वाई.पी.एस. चौक में खड़े थे तो बेरोजगार अध्यापकों ने मोती महल के घेराव का ऐलान कर दिया। इसके बाद प्रशासन में भगदड़ मच गई। जब बेरोजगार अध्यापक मोती महल की ओर बढ़ रहे थे तो प्रशासन द्वारा भारी पुलिस बल लगाकर उन्हें रोका गया और जब वे दूसरे बैरीके ड पर पहुंचे तो उन पर लाठीचार्ज किया गया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Recommended News

static