बीएसएफ घुसपैठ और तस्करी से प्रभावी तरीके से देश को बचा रहा है: केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय

punjabkesari.in Sunday, Dec 04, 2022 - 03:10 PM (IST)

अमृतसर, चार दिसंबर (भाषा) केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने रविवार को यहां कहा कि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) सीमापार से घुसपैठ, मादक पदार्थों एवं हथियारों की तस्करी तथा ड्रोन के आने की बढ़ती चुनौतियों को प्रभावी ढंग से नाकाम कर रहा है। वह देश के सबसे बड़े सीमा प्रहरी बल बीएसएफ के 58वें स्थापना दिवस पर यहां गुरू नानक देव विश्वविद्यालय के परिसर में आयोजित परेड को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। यह विश्वविद्यालय पंजाब में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा से करीब 30 किलोमीटर दूर है।

राय ने यह भी कहा कि बल की विभिन्न प्रकार की ड्यूटी में उत्तरोत्तर महिला कर्मियों को लगाया जा रहा है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महिला सशक्तीकरण के दृष्टिकोण को प्रतिबिंबित करता है।

उन्होंने कहा कि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) सीमापार से घुसपैठ, मादक पदार्थों एवं हथियारों की तस्करी तथा ड्रोन के आने की बढ़ती चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपट रहा है और वह हमारी सीमा के पास ऐसे प्रयासों को लगातार नाकाम कर रहा है।

वैसे तो मंत्री ने किसी सीमा का उल्लेख नहीं किया लेकिन समझा जाता है कि वह इस राज्य से गुजर रही भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा का जिक्र कर रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘‘ सीमा पर आपकी (बीएसएफ की) उपस्थिति सुनिश्चित करती है कि देश में शांति हो, आपने पिछले 57 सालों से इस सीमा क्षेत्र को सुरक्षित रखा है।’’ मंत्री ने कहा कि बीएसएफ को रडार और ड्रोन रोधी शस्त्र जैसे अत्याधुनिक निगरानी उपकरण प्रदान किये जा रहे हैं।

सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक पंकज कुमार सिंह ने कहा कि बल ने इस साल भारत-पाकिस्तान सीमा पर कुल 17 ड्रोन (पंजाब में 16 और जम्मू में एक) मार गिराये तथा देश में घुसपैठ करने के लिए आतंकवादियों द्वारा उपयोग में लाये जाने वाली भूमिगत सुरंगों का पता लगाने के लिहाज से वह रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) तथा अन्य वैज्ञानिक अनुसंधान संगठनों की मदद ले रहा है।

उन्होंने पाकिस्तान की ओर से बढ़ रही मादक पदार्थ तस्करी की समस्या का जिक्र करते हुए कहा कि बल ने पिछले एक साल में इन क्षेत्रों से 500 किलोग्राम से अधिक मादक पदार्थ जब्त किया है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News